यूपी का एक ऐसा शहर जिसकी तुलना की जाती है विदेश की इस खूबसूरत जगह से

0

उत्तर प्रदेश: भारत में कुल 29 राज्य है. जिसमें हर राज्य अपने में ही खूबसूरती समेटे हुए है. इन्हीं राज्यों में से एक है उत्तर प्रदेश. उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है और लखनऊ इसकी प्रशासिनक राजधानी है. ये राज्य भारत के उत्तर में स्थित है.

कौन से है बिहार के प्रमुख शहर

आपको बता दें कि अयोध्या, झाँसी, मेरठ, आगरा, कानपूर, बरेली, वाराणसी, मथुरा, मुरादाबाद, गोरखपुर तथा आज़मगढ़ प्रदेश के अन्य बड़े शहर है. उत्तर प्रदेश में अनके नदियाँ है जिनमें गंगा, यमुना, चम्बल, घाघरा, गोमती और सोन प्रमुख नदियाँ है. उत्तर प्रदेश को चुनावी समीकरण के आधार पर भी काफी अहम माना जाता है. लेकिन आज हम आपको उत्तर प्रदेश के एक ऐसे शहर के बारे में बताने जा रहें है जिसे पूर्व का मैनचेस्टर भी कहा जाता है. तो चलिए जानते है वो कौन सा शहर है जिसकी तुलना विदेश के इस खूबसूरत और मशहूर शहर से की गई है.

यह भी पढ़ें: क्या कारण है कि सूरत कपड़े और हीरे के व्यवसाय में अन्य राज्यों से है आगे

करीब 25 साल पहले कानपूर एक बहुत बड़ा उत्पादक केंद्र था

QUORA से मिली जानकारी के मुताबिक, कानपूर शहर को उत्तर प्रदेश का मैनचेस्टर भी कहा जाता है. यह शुरुआत से ही औद्योगिक नगर रहा है. करीब 25 साल पहले कानपूर एक बहुत बड़ा उत्पादक केंद्र था. उस दौरान यहां जूट और कपड़ा उत्पादन की बहुत सी मिल भी थी और इसी के तहत इसे मैनचेस्टर कहा जाता है. उस समय काफी संख्या में यहां लेबर कार्यरत थे. बता दें कि इन्हीं लेबर की संख्या की अधिकता के कारण यहां से कम्यूनिस्ट पार्टी के कई संसद बने इन सभी ने अपने कार्यकाल के दौरान वामपंथी जहर को फैला कर अक्सर ही स्ट्राइक और मिल बंदी करवाते रहें. धीरे-धीरे मिल बंद होती गई और लेबर बेरोजगार होते गए. फिर यह पूर्व का मैनचेस्टर एक इतिहास बन गया है.

ब्रिटिश राज के वर्चस्व के समय भारत में स्वदेशी कपड़ा बिका करता था

बता दें कि मानचेस्टर नाम का शहर इंग्लैंड में बसा हुआ है और कपड़ा उद्योग के लिए प्रसिद्ध है. यह यूरोप में कपड़ा क्षेत्र का गढ़ भी है. इस नाम की भारत से जुड़ने की कहानी तब शुरू हुई जब भारत में ब्रिटिश राज हुआ करता था. दरअसल, ब्रिटिश राज के वर्चस्व के समय भारत में स्वदेशी कपड़ा बिका करता था. परंतु ब्रिटिश कंपनियों ने अपना उद्योग अधिक करने के लिए अपनी सरकार की मदद से यूरोप का कपड़ा भारत में फैलाना शुरू कर दिया यह कपड़ा मैनचेस्टर से लाया जाता था. ये कपड़ा भारतीय स्वदेशी कपड़े की तुलना में सस्ता भी था. इसी वजह से कपड़े उद्योग में अग्रणी होने के कारण ही कानपूर को भारत का मैनचेस्टर कहा जाने लगा.

यह भी पढ़ें: जाने भारत के लोगों की वो आदते जो बनाती है उन्हें दुनिया से अलग

कानपूर औद्योगिक राजधानी के नाम से भी प्रचलित है

कहते है ना समय के साथ-साथ नई तकनीक आने से चीजों में बदलाव देखे जाते है वैसा ही उत्तर प्रदेश में भी आज देखने को मिलता है. आज कानपूर, दिल्ली के बाद व्यापार (ट्रेडिंग) में उत्तर भारत की दूसरी सबसे बड़ी मंडी है. कानपूर औद्योगिक राजधानी के नाम से भी प्रचलित है. कानपूर क्षेत्रफल की दृष्टि से भी उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा नगर है. ये ही वजह है कि कानपूर को पूर्व में मैनचेस्टर के रूप में जाना जाता था.