वायुसेना ने भरोसा दिखाया तो लड़ाकू विमान उड़ाने वाली भारत की पहली महिला बनी अवनी

0

फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं. उन्होंने अपने नाम ये उपलब्धि मिग-21 बाइसन को अकेले उड़ाकर की. अवनी की इस तरह की यह पहली उड़ान थी. मूलतः मध्य प्रदेश के रीवा की रहने वाली अवनी के बारे में ऐसा बताया जाता है कि वो बचपन से ही पायलट बनना चाहती थी.

और रच दिया इतिहास

वायुसेना के एक अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, अवनी ने सोमवार को जामनगर वायुसेना स्टेशन से विमान उड़ाया. लड़ाकू विमान उड़ाने के लिए तीन महिला पायलटों अवनी चतुर्वेदी, भावना कांत और मोहना सिंह को कड़ा प्रशिक्षण दिया गया है.

लड़ाकू विमान उड़ाने वाली देश की पहली तीन महिला पायलट्स पिछले साल अक्टूबर से तैयारी में जुटीं थीं. अवनी, मोहना और भावना ये तीनों पायलट तीन हफ्ते के कठोर प्रशिक्षण के बाद सेना का जंगी विमान उड़ाने के लिए कड़े परिश्रम कर रही थीं. को पिछले साल जुलाई में फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर. जुलाई 2016 में भावना कंठ, अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह को फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर कमीशन मिला था. इन तीनों के बाद फ्लाइंग ऑफिसर प्रतिभा और शिवांगी को भी इंडियन एयरफोर्स के फाइटर स्ट्रीम फ्लाइंग ब्रांच में मान्यता दी गई है.

कल्पना से मिली प्रेरणा

एक इंटरव्यू में अवनी ने बताया कि, “जब मैं छोटी थी तब टीवी पर कल्पना चावला की स्पेसशिप क्रैश में मौत की खबर देखी थी. इस खबर से मेरी मां सविता चतुर्वेदी बेहद दुखी हुई थी. वो रोने लगी. मुझसे देखा नहीं गया तो मैंने उन्हें कहा कि मैं एक दिन कल्पना चावला बनकर दिखाउंगी. बस उस दिन से मैंने ठान लिया कि पायलट बनूंगी.”

सरकार ने दिया साहस

वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा था कि आपको जानकर खुशी होगी कि उड़ान के लिए कठिन अभ्यास के बावजूद इन तीनों का प्रदर्शन अन्य पायलटों के प्रदर्शन की तरह ही उत्कृष्ट रहा.

वायुसेना के एयर कमांडर प्रशांत दीक्षित ने बताया कि भारतीय वायुसेना और देश के लिए ये एक अनोखी उपलब्धि है. दुनिया में सिर्फ ब्रिटेन, अमेरिका, इजरायल और पाकिस्तान में ही महिलाएं फाइटर पायलट बन सकती हैं.

भारत सरकार ने महिलाओं को 2015 में फाइटर पायलट के लिए अनुमति दी थी. देश में 1991 से ही महिलाएं हेलिकॉप्टर और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट उड़ा रही हैं, लेकिन फाइटर प्लेन से उन्हें दूर रखा जाता था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 1 =