पाकिस्तान उइगर मुस्लिमों के लिए अपनी आवाज़ क्यों नहीं उठाता : अमेरिका

0

पाकिस्तान हमेशा से ही मुस्लिम लोगों के शोषण के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता रहता है। चाहे वह रोहिंग्या मुस्लिम हो या फिर कश्मीरी मुस्लिम। जहां पर मुसलमानों के शोषण की बात आती है पाकिस्तान हमेशा उनका हितैषी बनकर आगे आने लगता है। जबकी खुद ही पाकिस्तान मुस्लिम लोगों को आतंकवादी बनाकर उन्हें तबाह कर रहा है। लेकिन अब अमेरिका नें पाकिस्तान से कहा है की अगर वह मुस्लिम लोगों का इतना बड़ा हितैषी है तो चीन में उइगर मुस्लिम लोगों के शोषण के ख़िलाफ़ आवाज़ क्यों नहीं उठाता है।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान के आए बुरे दिन, कर्ज़ देने के लिए कारों से लेकर भैंसों तक की हो रही है नीलामी

 

चीन करता है उइगर मुस्लिमों का शोषण

आपको शायद लगता होगा की चीन में शायद मुस्लिम आबादी नहीं रहती है। चीन पुरी तरह से एक बौधिक देश है तो यह आपकी ग़लतफहमी है। चीन के शिनजियांग में उइगर मुस्लिम नाम की एक कम्युनिटी रहती है। जिसका चीन हमेशा से शोषण करता आया है। चीन इन मुसलमानों को अधिकारों से वंचित रखता है। उन्हें रमज़ान में रोज़ा नहीं रखने देता है, उन्हें उनकी धार्मिक आजादी में जीने नहीं देता है। जिसकी वजह से उइगर मुस्लिम आए दिन चीन में आतंकी घटनाओँ को अजाम देते है।

उइगर मुस्लिमों के हालात को लेकर संयुक्त राष्ट्र नें जताई चिंता

संयुक्त राष्ट्र नें पाकिस्तान को फटकार लगाई है की वह मुस्लमानों को लेकर दो तरह का रवैया अपना रहा है। संयुक्त राष्ट्र नें कहा है की चीन की सरकार उइगर मुस्लिमों को उनके अधिकारों से लगातार वंचित कर रहा है। उन्हें आतंक के आरोप में गिरफ़्तार कर रही है। चीन नें इन आरोपों को खारिज कर कहा की प्रांत में अशांति के लिए इस्लामिक आतंकवाद और अलगाववाद जिम्मेदार है जिनके तार उइगर मुस्लिमों के साथ जुड़े है।

यह भी पढ़ें : पाकिस्तान के पास बढ़ रहे है परमाणु हथियार, जल्द बन सकता है दुनियाँ का पाँचवा परमाणु देश