दिल्ली में यमुना नदी का कहर, 27 ट्रेनें हुई रद्द

0

नई दिल्ली: दिल्ली में मानसून का आगाज हुए काफी समय हो चुका है. जहां एक तरफ दिल्लीवासियों को तपिश से राहत मिली है वहीं निरंतर हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से दिल्ली वालों की परेशानियां भी काफी हद तक बढ़ी है. लगातार बारिश और हथिनी कुंड बैराज से छोड़े जा रहे पानी से दिल्ली में बाढ़ का खतरा काफी बढ़ गया है.

बढ़ते जलस्तर की वजह से 27 ट्रेनों को किया रद्द

बता दें कि यमुना पुल पर बढ़ते जलस्तर को देखते हुए 27 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. दिल्ली में यमुना का जल स्तर दिन-प्रतिदिन काफी बढ़ता जा रहा है. जिस वजह से काफी ट्रेनों को स्थगित कर दिया गया है. पानी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच चुका है, आज सुबह करीब 8 बजे यहां का जल स्तर 205.66 मीटर तक पहुंच गया था. जबकि यह जल स्तर सुबह साढ़े सात बजे तक 205.62 मीटर तक था. यह खतरे के निशाने से 79 सेंटीमीटर अधिक है.

जल स्तर के अधिक बढ़ जाने और खतरे के निशान के ऊपर आ जाने की वजह से दिल्ली के कई इलाके इसकी चपेट में आने का खतरा मंडरा रहा है. वहीं यमुना पर बना मशहूर ‘लोहे का पुल’ में यातायात को रोक दिया गया है. वहीं बीते रात झमाझम बारिश के कारण यमुना का जल स्तर और बढ़ गया. इसी बढ़ते जल स्तर का असर दिल्ली आने वाली ट्रेनों में भी पड़ता नजर आ रहा है. लोहे के पुल से गुजरने वाली 27 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. ये ही नहीं सात सवारी ट्रेनों के रूट भी बदल दिए गए है.

यह भी पढ़ें: मौसम विभाग का पुर्वानुमान दिल्ली एनसीआर में अगले 48 घटों तक जारी रहेगी बारिश

बढ़ते जल स्तर ने शासन-प्रशासन की चिंता बढाई

जल स्तर के भराव को बढ़ता देखते हुए दिल्ली के निचले जगहों से लोगों को हटा दिया गया है. आपको बता दें कि बीते दिन यानी रविवार को सरकार ने नदी की स्थिति पर नजर रखने के लिए बाढ़ नियंत्रण कक्ष आपात संचालन केंद्र स्थापित किए है. जानकारी के अनुसार, हथिनीकुंड से छोड़ा गया पानी आज दिल्ली पहुंच सकता है इससे यमुना नदी की स्थिति और बिगड़ सकती है. रविवार को फिर हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से 2 लाख 53 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया. ऐसे में बढ़ते जल स्तर ने शासन-प्रशासन की चिंता और अधिक कर दी है.

किन-किन इलालों में बना हुआ है बाढ़ का खतरा

निरंतर बढ़ते जल भराव के कारण दिल्ली के वजीराबाद, सोनिया विहार, गढ़ी मांडू, शास्त्री पार्क, गीता कॉलोनी, गांधी नगर, जगतपुर गांव, यमुना बाजार, ओखला, बाटला हाउस, सराय काले खां, मदनपुर खादर और राजघाट में बाढ़ की स्थिति बन सकती है. इन सभी इलाकों में सबसे ज्यादा गीता कॉलोनी में बाढ़ का खतरा बना हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five + one =