जानते है पूरी सच्चाई, क्या एक्सरसाइज करने से झड़ जाते हैं बाल?

0
Exercise
जानते है पूरी सच्चाई, क्या एक्सरसाइज करने से झड़ जाते हैं.

आज के समय में ज्यादातर लोग अपने सर के बालों के छड़ने की समस्या से जूझते है. ये केवल बूढ़ें लोग के साथ ही नहीं होता, बल्कि बच्चों और बड़े लोगों के भी बाल सफेद होने लगते है या फिर झड़ते बालों और गंजेपन की समस्या का सामना करना पड़ कर रहा है. इसके लिए लोग तमाम तरह के इलाज करते है.

इसके अलावा यंगस्टर्स बॉडी बिल्डिंग पर भी काफी ध्यान देते हैं और जिम में घंटों पसीना बहाते हैं. ऐसे में सवाल ये भी उठता है कि क्या ज्यादा एक्सर्साइज करने से बाल झड़ने की समस्या हो जाती है. आईए जानते है कि इस बात में कितनी सच्चाई है और क्या सही में इस बात में सच्चाई है.

मीडिया रिपोर्टस की मानें तो भारत में लगभग 3.5 करोड़ पुरूष बाल झड़ने जैसी समस्या से परेशान हैं. फिटनेस इंडस्ट्री में भी काफी लोगों के सिर पर कम बाल है या फिर वह गंजे है. क्या ऐसा वाकई होता है और अगर ऐसा है, तो इसकी क्या वजहें हो सकती है, साथ ही इसे कैसे रोका जा सकता है. इसके लिए आप डॉक्टर की सलाह लेना भी बेहद जरूरी है.

एक वेबसाइट की रिपोर्ट की मानें तो फिटनेस जर्नी यानी वर्कआउट करने के दौरान बाल झड़ने की समस्या आम बात है। दरअसल, बाल झड़ने और गंजेपन के लिए मुख्य रूप से डाई हाइड्रो टेस्टोस्टेरोन (DHT) का बिगड़ा हुआ लेवल जिम्मेदार है. इसका लेवल टेस्टोस्टेरॉन बढ़ने से हाई होता है. दूसरी तरफ यह भी फैक्ट है कि बॉडी बिल्डर और ऐथलीट्स, टेस्टोस्टेरॉन बूस्टर या सप्लिमेंट लेकर अपना टेस्टोस्टेरॉन हाई करने की कोशिश करते हैं. ऐसे में टेस्टोस्टेरॉन बूस्टर लेने की वजह से वर्कआउट करने वालों का DHT लेवल बढ़ जाता है और यही बालों का कमजोर होना और गंजेपन का कारण बन जाता है.

एक रिसर्च में यह भी पता चला है कि बालों का झड़ना लो कार्ब डायट का परिणाम भी हो सकता है. अपने वजन को कम करने के लिए लोग कार्बोहाईड्रेट का इंटेक कम कर देते है. एक स्टडी में 45 लोगों को लो कार्ब डायट और कीटो डायट दी गई. इनमें से 2 लोगों में बाल पतले होने और बाल झड़ने की समस्या पाई जाती है. कई पुरुषों में आनुवांशिक रूप से भी बाल झड़ने की समस्या होती है. यदि वर्कआउट करने के दौरान उनके बाल झड़ रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक मानें तो बालों के झड़ने की समस्या के लिए कई दूसरे चिजे भी इसके जिम्मेदार होती है. जैसे प्रदूषण, गलत खान-पान, केमिकल रिऐक्शन, इंफेक्शन या संक्रमण, सोरायसिस होने पर, अत्यधिक तनाव या कोई बीमारी, थाइरॉयड का असंतुलित लेवल, ऐंटि हेयर फॉल सप्लिमेंट्स लेना, शैंपू, कंडिशनर का ज्यादा इस्तेमाल करना, अधिक हेयर स्प्रे का इस्तेमाल करना. इत्यादि.

यह भी पढ़ें : क्या होता है ‘Pelvic Pain’, जानें पेडू दर्द का कारण और बचाव के तरीके

अगर किसी के भी बाल झड़ने शुरू हो जाते है, तो उन्हें इसका सेवन तुरंत बंद कर दिना चाहिए, साथ ही एक्सपर्ट की भी सलाह लें. इसके अलावा कुछ उपाय के द्वारा भी आप बाल पतले होने की समस्या से राहत पा सकते है. इसी के साथ ही डायट और रोजमर्रा की लाइफस्टाइल में बदलाव कर मसल्स भी बना सकते है बालों की देखभाल कर आप बालों की समस्या से कुछ हद तक छुटकारा पा सकते है.