इस फूल के ऐसे हैं चमत्कारी गुण, डायबीटीज के मरीजों के लिए हैं रामबाण

0

नई दिल्ली: समय के साथ-साथ हमारे लाइफस्टाइल में भी काफी फर्क आता जा रहा है. अक्सर ही लोग व्यस्तता के चलते खराब लाइफस्‍टाइल और खान पान के गलत तरीकों के कारण मधुमेह यानी डाइबिटीज की बीमारी का शिकार हो जाते है.

आज के समय में डाइबिटीज एक सामान्‍य बीमारियों में से एक है लेकिन अगर इसका सही समय में सही तरीके से इलाज न करवाया जाए तो यह आगे चलकर जानलेवा भी साबित हो सकती है. डायबिटीज को शरीर में मेटाबॉलिक डिसऑर्डर की जड़ माना जाता है और इसी कारण से ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ने लगता है.

यह भी पढ़ें: स्वाद में मीठे लेकिन खूबी में बिल्कुल अलग, जानिए क्या है गुड़ और चीनी की खासियत

भारत में पाए जाने वाल यह पौधा अपने औषधीय गुणों के लिए भी काफी लोकप्रिय है

ये बात सही है कि मधुमेह की बीमारी को जड़ से खत्म करना मुश्किल है लेकिन अगर सही समय पर इलाज किया जाए तो काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है. डायबिटीज को काबू करने के लिए विशेषज्ञ कई तरीके के घरेलू उपाय का सुझाव देते है. इन्हीं उपाय में से एक है ‘पनीर का फूल’. जिसको पनीर डोडा और इंडियन रेनेट भी कहा जाता है. भारत में पाए जाने वाल यह पौधा अपने औषधीय गुणों के लिए भी काफी लोकप्रिय है. ये फूल मधुमेह के मरीजों के लिए रामबाण का काम करता है.

क्या खासियत है पनीर के फूल की

पनीर का फूल सोलानसेआए परिवार का एक फूल है. ये भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्‍तान के कुछ इलाकों में पाया जाता है. ये ही नहीं इसका प्रयोग कई आयुर्वेदिक दवाइयों के लिए किया जाता है. इस फूल का स्वाद और सुगंध दोनों ही चीजें कड़वाहट से भरी होती है.

कई बिमारियों के लिए मददगार

ये न केवल मधुमेह के रोग बल्कि अनिंद्रा, घबराहट और अस्थमा से लड़ने में भी मददगर है. क्योंकि इसमें शामक और मूत्रवर्धक गुण उपलब्ध होते है.

कैसे करें इस फूल का उपयोग

इस का उपयोग करना काफी सरल है. रात को सोने से पहले 10 से 12 फूल एक कांच के गिलास में डालकर उन्हें पूरी रात के लिए छोड़ दें. फिर सुबह उठकर खाली पेट इस पानी को छानकर पी लाएं. पनीर के फूल और एक संतुलित आहार द्वारा आप अवश्य ही इंसुलिन लेवल को कंट्रोल कर पाएंगे. ये आपको किसी भी किराने की दुकान और मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जाएगा.

कैसे नियंत्रित करता है डायबिटिज के रोग को

विशेषज्ञों के मुताबिक, ये फूल शरीर में इंसुलिन के सही उपयोग के लिए पेनक्रियाज (अग्न्याशय) के बीटा सेल को हील करने का कार्य करता है. अगर कम मात्रा में लेकिन सही समय पर रोज सेवन किया जाये तो ये इंसुलिन को संतुलित रखता है.

कुछ चीजों को करना पड़ सकता है किनारा

अगर आपने इसका सेवन करना शुरू कर दिया है तो इसके बेस्ट रिजल्ट के लिए आपको कुछ चीजों को परहेज करना पड़ सकता है जैसे बिस्कुट, मिठाईयों और प्रोसेस्ड फूड्स जैसे आहार को छोड़ना होगा. साथ-ही साथ एक्‍सरसाइज करके और संतुलित आहार लेकर आप इस औषधी फायदा ले सकते है.

Source by- bold sky