अब भारतीय रेलवे में सफर करना किसी लग्जरी होटल से नहीं होगा कम, IRCTC ने जारी किया नया प्लान

0

नई दिल्ली: रेलवे द्वारा जल्द ही आम जनता को मिल सकती है खुशखबरी क्योंकि जल्द ही रेलवे प्रशासन की तरफ से आला अफसरों के लिए इस्तेमाल होने वाले रेलवे सैलून की सेवा आम नागरिक के लिए मुहैया करने वाला है.

जो सैलून अब तक रेलवे अफसरों द्वारा इस्तेमाल किए जाते है वो अब सैलून कामर्शियल होंगे- रेलवे मंत्री 

बता दें कि रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने आईआरसीटीसी को आदेश दिए है कि जो सैलून अब तक रेलवे अफसरों द्वारा इस्तेमाल किए जाते है वो अब सैलून कामर्शियल होंगे. जहां इस सेवा को आम लोगों को प्राप्त होगी वहीं इसके लिए जनत को शुल्क भी देना पड़ेगा.

क्या है सैलून

आईआरसीटीसी द्वारा सैलून की पहली सेवा पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से शुरू की गई थी. बता दें कि रेलवे के अधिकारियों के लिए अंग्रेजों के जमाने से ही खास तरीके के कोच बनाए गए थे, जिनमें ड्राइंग, डाइनिंग, किचन और दो बेडरूम होते हैं. और इसी प्रकार के खास डिब्बों को सैलून कहा जाता है. इसमें हर एक बेडरूम में अटैच्ड टॉयलेट-बाथरूम होते हैं. रेल लाइन पर यह चलते फिरते लग्जरी होटल की तरह होते हैं.

क्यों बनाए गए सैलून

आईआरसीटी ने मार्च में भारत का पहला एयर कंडिशनर सैलून खोला था. शुरुआत के समय में ये बस रेलवे अधिकारियों के लिए रहा था. ऐसे सैलून में आप दो परिवारों के साथ रहा सकते है. ये ही नहीं रेलवे के पास 336 ऐसे सैलून हैं. जिसमें 62 में एयर कंडीशन है.

बता दें कि ब्रिटिश काल के दौरान जब दूरदराज के इकालों में रेल लाइन बिछाई जा रहीं थी, और वहां रुकने का कोई सधन नही था तो तब इस समस्या से निपटने के लिए रेलवे में सैलून का इंतजाम किया गया. आजादी के बाद यह व्यवस्था उसी तरह से जारी है.