अब इस जगह ‘जय श्री राम’ न कहने पर मुस्लिम कैब ड्राइवर को पीटा गया

cab driver

मुस्लिम कैब ड्राइवर के साथ ‘जय श्री राम’ न बोलने पर मारपीट का मामला सामने आया है। दरअसल, कैब ड्राइवर का चार-पांच लोगों के साथ झगड़ा हो गया जो कि नशे की हालत में थे। जब आरोपियों को यह पता चला कि वह मुस्लिम है तो उन्होंने उसकी पिटाई कर दी और उससे ‘जय श्री राम’ बोलने को कहा।

पूरा मामला महाराष्ट्र के पूणे का है, जहां कैब ड्राइवर ने कुछ लोगों पर पीटने और जबरन ‘जय श्री राम’ का नारा लगवाने का आरोप लगाया है। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है। वहीं, इलाके के डीसीपी एसएस बुरसे का कहना है कि आरोपियों के ख़िलाफ़ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और लूटपाट के इरादे से हमला करने का केस दर्ज किया गया है।

एक ऑनलाइन कंपनी की कैब चलाने वाले फैजल का कहना है, वह शनिवार की रात कुछ यात्रियों को लेकर ज़िले के दीवा कस्बे में गया था। इसके बाद लौटते वक़्त, उसका चार-पांच लोगों से झगड़ा हो गया जो नशे की हालत में थे। इसके बाद इन लोगों ने कैब ड्राइवर की कथित तौर पर पिटाई कर दी। जब आरोपियों को उसके मुस्लिम होने की बात पता चली तो उन्होंने उससे ‘जय श्री राम’ बोलने को कहा।

अपने साथ हुई घटना की शिकायत करने पहुंचे फैजल ने कहा, तीन लोगों ने पहले मेरी पिटाई की। फिर मेरा फोन छीन लिया। यही नहीं जब वे मुझे पीट रहे थे तो मैंने  ‘या अल्लाह’ कहकर चिल्लाना शुरू किया तो उन्होंने मुझसे ‘जय श्री राम’ बोलने को कहा।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर धर्म ने नाम पर हिंसा की जा रही है। हाल ही में झारखंड में मुस्लिम समाज से ताल्लुक रखने वाले तबरेज़ अंसारी से भीड़ ने ‘जय श्री राम’  के नारे लगवाए। इसके बाद उसे मौत के घाट उतार दिया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस घटना को शर्मनाक बताया है।

ये भी पढ़ें : टीम इंडिया की बदली हुई भगवा जर्सी पर कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार किया हमला, कही ये बात