राजधानी दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा, इन रास्तों को किया बंद

0

नई दिल्ली: बीते दिन यानी गुरुवार को देश के महान नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एम्स में निधन हुआ है. उनकी इस खबर से पूरा देश शोख में है. वो दो बार देश के प्रधानमंत्री रहें है. वाजपेयी के निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को कृष्णा मेनन मार्ग स्थित उनके आवास स्थान पर रखा गया है. इस दौरान उनके आवास स्थान में कई दिग्गज नेताओं और हस्तियों का अवागमन लगा हुआ है. आज सुबह करीब 9 बजे अटल बिहारी वाजपेयी के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित बीजेपी मुख्यालय लाया गया है. आज दोपहर 1 बजे रष्ट्रीय स्मृति स्थल तक वाजपेयी की अंतिम यात्रा निकाली जाएगी.

दिल्ली पुलिस ने कई मुख्य मार्गों को बंद कर ट्रैफिक डाइवर्ट किया है

इस अंतिम यात्रा में देश-दुनिया के कई बड़े नेता शिरकत करेंगे. वहीं वीवीआईपी मूवमेंट को ध्यान में रखते हुए, दिल्ली पुलिस ने ट्रैफिक एडवाइजरी जारी किया है. जिसके कारण कई मुख्य मार्गों को बंद कर ट्रैफिक डाइवर्ट किया गया है. ये ही नहीं आज वाजपेयी जी के सम्मान में दिल्ली सरकार की तरफ से स्कूलों, सरकारी दफ्तरों और बाजारों को बंद करने का निर्देश भी दिया गया है.

यह भी पढ़ें: नहीं रहें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, 93 साल की उमर में हुआ निधन

किन-किन जगहों को किया बंद

आज सुबह आठ बजे से ही कृष्ण मेनन मार्ग, सुनहरी बाग रोड, तुगलक रोड, अकबर रोड, तीस जनवरी मार्ग, मान सिंह रोड, भगवान दास रोड, शाहजहां रोड और सिकंदरा रोड जनता के लिए बंद कर दिए गए है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि आईपी मार्ग, बीएसजी मार्ग (तिलक ब्रिज से दिल्ली गेट), डीडीयू मार्ग, जेएलएन मार्ग (राजघाट से दिल्ली गेट) भी बंद रहेंगे. आज शाम करीब चार बजे स्मृति स्थल पर महान दिग्गज (वाजपेयी जी) का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: शादी के बंधन से आखिर क्यों दूर रहें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

कौन-कौन शामिल होगा इस अंतिम यात्रा में

अटल जी की अंतिम यात्रा में बीजेपी के कई नामी नेताओं के अलावा हजारों कार्यकर्त्ता और आम जनता शामिल होगी. इसके बवजूद पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश की सरकारों के प्रतिनिधि भी वाजपेयी के अंतिम दर्शन के लिए दिल्ली में मौजूद होंगे. इसी वजह से ट्रैफिक जाम से बचने और सुरक्षाओ ध्यान में रखते हुए इन रास्तों को जनता के लिए बंद किया गया है.