शादी के बंधन से आखिर क्यों दूर रहें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

0

नई दिल्ली: जब कभी भी पूर्व प्रधानमंत्रियों के बारे में मीडिया में चर्चा होती है तो इस लिस्ट में अटल बिहारी वाजपेयी का नाम जरुर बेशुमार होता है. उन्होंने भारत देश के लिए काफी कुछ किया है. पर जब भी उनका जिक्र होता है तो तमाम जनता के दिमाग में सिर्फ एक ही बात आती है कि आखिरकार अटल बिहारी वाजपेयी ने शादी क्यों नहीं की? जब वे सार्वजनिक जीवन में थे तो उनसे कई बार उनकी शादी को लेकर सवाल जवाब किए जाते थे. तब वह इन बातों को लेकर यह कहा देते थे कि व्यस्तता के चलते वह शादी के पवित्र बंधन में नहीं बंधे. और ये कहा कर अक्सर ही वह धीरे से मुस्कुरा भी दिया करते थे.

आपको बता दें कि उनके करीबियों का कहना है कि राजनीतिक सेवा का व्रत लेने की वजह से वो हमेशा कुंवारे ही रहें है. उन्होंने राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के लिए आजीवन अविवाहित रहने का फैसला भी लिया था.

कई बार शादी को लेकर दिए जवाब

पूर्व प्रधानमंत्री ने शादी को लेकर कई बार इन सवालों का खुलकर जवाब भी दिया है. पूर्व पत्रकार और अब कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने एक इंटरव्यू में अटल जी से शादी को लेकर सवाल पूछा था. इसके जवाब में वाजपेयी ने कहा था कि घटनाचक्र ऐसा-ऐसा चलता गया कि मैं उसमें फंसता गया और विवाह का शुभ मुहूर्त नहीं निकल पाया. उनसे ये भी पूछा गया कि क्या आपकी जिंदगी में कोई अफेयर नहीं हुए? इस पर वाजपेयी जी ने चिरपरिचित मुस्कान के साथ जवाब दिया कि इस तरह की चर्चा सार्वजनिक रूप से नहीं की जा सकती है. हां मगर इस इंटरव्यू के दौरान एक बात को जरुर कुबूल किया था कि वह अपनी लाइफ में अकेला महसूस करते है. उन्होंने इससे जुड़े एक सवाल के जवाब में बताया था कि हां, अकेला महसूस तो करता हूं, भीड़ में भी अकेला महसूस करता हूं.

यह भी पढ़ें: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाज़ुक, AIIMS में चल रहा है इलाज

प्रेम पत्र भी लिखा था

ये एक ऐसी कहानी है जिसकी शुरुआत 40 के दशक में हुई थी, जब अटल बिहारी वाजपेयी ग्वालियर के एक कॉलेज में पढ़ाई करते थे. दरअसल, दोनों ने ही अपने रिश्ते को कभी नाम नहीं दिया था, लेकिन कुलदीप नैयर के मुताबिक, यह एक बहुत ही खुबसूरत प्रेम कहानी थी. राजनीतिक गलियारों में वाजपेयी और राजकुमारी कौल के रिश्तों की खूब चर्चाएं भी हुई थी. इस बारे में दक्षिण भारत के पत्रकार गिरीश निकम ने एक इंटरव्यू के दौरान अटल और श्रीमती कौल को लेकर अनुभव बताए है. वह अटल के संपर्क में तब से थे जब से अटल जी देश के पीएम नहीं बने थे. उनका अनुसार, जब अटल जी के निवास पर कॉल करते थे तो फोन श्रीमती कौल ही उठाया करती थी. जब एक बार उनकी उनसे वार्ता हुई तो उन्होंने परिचय कुछ इस अंदाज में दिया कि मैं मिसेज कौल, राजकुमारी कौल हूं. वाजपेयी और मैं लंबेवक्त से दोस्त है. 40 से अधिक सालों से है.

बता दें कि फिलहाल अटल जी तबीयत खराब होने की वजह से एम्स में भर्ती हुए है. काफी समय से बीमारी से जूझ रहें अटल जी को वेंटिलेटर पर रखा गया है. उनसे मिलने तमाम नेता जा रहें है.