बांदा -बुंदेलखंड के रेलवे ट्रैक पर मार्च से फराटे भरेगी इलेक्ट्रिक ट्रेनें

0

अगले वर्ष मार्च महीने से बुंदेलखंड के रेलवे स्टेशन इलेक्ट्रिक पैनल और इंटरलिंकिंग सिस्टम से री तरह  से लेस हो जाएंगे, इस सुविधा के आने के बाद ट्रेनों की हो रही देरी से आगमन और प्रस्थान में काफी हद तक कमी आ जाएगी | मंडल मुख्यालय बांदा से झांसी और कानपूर रुत के सभी स्टेशनो पर ये सिस्टम चालू हो जाएगी | अतर्रा, डींगवाही, मानिकपुर, भरतकूप, आदि स्टेशनो पे ये काम पूरा हो चूका है  अब बांदा स्टेशन पे इलेक्ट्रिक पैनल बिछाने का काम तेजी से चल रहा है |

वर्ष 2016 में रेल मंत्रालय ने झांसी के सभी स्टेशनो को पूरी तरह से इलेक्ट्रिक पैनल और इंटरलिंकिंग सिस्टम द्वारा लेस करने का फैसला लिया था | इस फैसले पर काम मार्च 2017 में शुरू हुआ और अभी तक में खेरार, सुमेरपुर, भीमसेन, अतर्रा, डींगवाही, मानिकपुर, चित्रकूट, भरतकूप आदि 11 स्टेशनो पर ये काम पूरा कर लिया गया है | बांदा स्टेशन पर भी तेज़ी से चल रहा है | पैनल बिछाये जा चुके है | लोकेशन बॉक्स और केविल बिछाने का काम बाकि रह गया है | रेलवे के वरिष्ठ अभियंता पीके वर्मा  के अनुसार ये सारे काम आने वाले वर्ष 2019 के मार्च तक पूरा कर लिए जाएंगे |

जानिए क्या है पैनल इंटरलिंकिंग सिस्टम :-

इस सिस्टम के शरू होने के बाद जब भी ट्रेनो को आउटर सिगनल पर खड़े होकर सिगनल क्लियर होने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा | स्टेशन परिसर में आने से पहले ही ऑटोमैटिक तरिके से लाइन क्लियर हो जाएगी | ट्रैन स्टेशन छोड़ते ही लाइन जहा की तहा फिक्स हो जाएगी | ट्रैन को दुरी तय करने में समय बचेगा तथा कोहरे की धुंध से भी ट्रैन के संचालन में कोई बाधा नहीं आएगी |

इंटरलिंकिंग भवन भी बन कर हो गया है तैयार :-

पुरे 50 लाख की लगत से बन कर तैयार हुआ है बांदा में इलेक्ट्रिक पैनल और इंटरलिंकिंग सिस्टम भवन मसिनो को लगाने का काम चल रहा है| सहायक स्टेशन मास्टर के कमरे में भी इंटरलिंकिंग का काम पुरा हो चुका है|

रेलवे परिसर में बनेंगे पार्क :-

रेलवे स्टेशन परिसर के अंदर एक प्राचीन तालाब उपस्थित है | रेलवे के अधिकारी अभियंता शिव सिंह नें बताया की रेलवे स्टेशन में स्थिति 6 हैक्टयर क्षेत्रफल वाले इस तालाब के सुंदरीकरण के लिए 80 लाख तक का प्रस्ताव तैयार किया गया है | इससे पार्क,तालाब का सुंदरीकरण, योगशाला, मनोरंजन कक्ष, के साथ साथ केटरिंग भी होगा | पार्क के चारो ओर फुलवारी तथा लाइटिंग भी होगी।