CAA याचिका पर मुख्य न्यायधीश बोबडे का बयान, ‘देश कठिन दौर से गुज़र रहा है’

0
SS Bobde
SS Bobde

भारत के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे ने गुरुवार को एक याचिका पर कमेंट करते हुए कहा है कि देश कठिन दौर से गुज़र रहा है। आपको बता दें कि यह याचिका CAA से सम्बंधित थी। दरअसल याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) अधिनियम को संवैधानिक घोषित करे।

आपको बता दें कि संसद ने पिछले महीने नागरिकता अधिनियम में संशोधन के कानून को मंजूरी दे दी थी। इस अधिनियम के तहत सरकार को भारत के पड़ोस में तीन मुस्लिम-बहुल देशों के धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का अधिकार देता है।

नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर के रोलआउट के अग्रदूत के रूप में देखे जाने वाले कानून की इस आधार पर तीखी आलोचना की गई है कि यह लोगों के साथ उनके धर्म के आधार पर भेदभाव करता है।

याचिका पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्य न्यायाधीश बोबडे ने कहा “देश कठिन समय से गुजर रहा है। बहुत परेशानी है। शांति लाने के लिए कुछ चीज़ होनी चाहिए। इस तरह की याचिकाएं शांति लाने में मदद नहीं करती हैं।”

केरल और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में विपक्षी दलों द्वारा शासित कई राज्यों ने पहले ही घोषित कर दिया है कि वे इस कानून को लागू नहीं करेंगे।

याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि वह राज्य सरकारों को अधिनियम को लागू करने के लिए जारी किए जाने वाले निर्देशों के अलावा CAA को संवैधानिक घोषित करने की मांग कर रहा है।

यह भी पढ़ें: जवानों को देश की रक्षा के लिए, तनोट माता के मंदिर से मिलती है शक्ति

CJI, हालांकि, इस याचिका से प्रभावित नहीं थे। CJI ने कहा कि इसका मतलब आपत्तिजनक नहीं है, लेकिन हमने इस तरह की याचिकाओं के बारे में कभी नहीं सुना है कि एक्ट को संवैधानिक घोषित किया जाए।

गौरतललब है कि देशभर में CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं।