सीडीए को तोडने की कोशिश के आरोप को गलत ठहराया कोरियोग्राफर गणेश आचार्य ने

0
Indian choreographer
सीडीए को तोडने की कोशिश के आरोप को गलत ठहराया कोरियोग्राफर गणेश आचार्य ने

फेमस कोरियोग्राफर गणेश आचार्य और सरोज खान को सभी बखूबी जानते है. जिनकी नृत्य की जितनी भी तारीफ की जाएं वह शायद ही बहुत कम होगी. कोरियोग्राफर गणेश आचार्य पर सीडीए यानी की सिने डांसर्स एसोसिएशन को तोड़ने का आरोप लगाया गया है. सीडीए को तोडने की कोशिश की गई है ऐसा आरोप था जोकि पुरी तरह से गलत बताया जा रहा है.

बता दे कि गणेश आचार्य पर ये आरोप सीनियर कोरियोग्राफर सरोज खान द्वारा लगाया गया है. जिसमें खान का कहना है कि आचार्य डांसर्स का शोषम कर रहे है और सीडीए को बदनाम करने के लिए अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं. वहीं दूसरी और आचार्य ने इन आरोपों को सिरे से नकारते हुए सोरज से डांसर्स की मदद करने के लिए कहा है.

एक समाचार एजेंसी से बातचीत के दौरान आचार्य ने कहा कि सरोज जी गलत बोल रही है, जब भी सीडीए को बंद कर दिया गया था, तब उन्होंने आकर उसे खुलेवाने के लिए हमारी मदद करने क्यों नहीं की. सीडीए के लिए पांच समन्वयक नियुक्त किए गए थे, जिन्होंने उनसे 15 लाख रुपए भी लिए, जबकि 217 मास्टर्स ने इस बारे में एक पत्र पर हस्ताक्षर करते हुए बताया था आगे उन्होंने बताया, ‘सरोज जी को आगे आकर डांसर्स की मदद करना चाहिए. सीडीए में दोबारा चुनाव की जरूरत है.

आचार्य पर सीडीए को बदनाम करने का आरोप लगाया बल्कि ये भी कहा कि वे ज्यादा पैसों का लालच देकर हमारे डांसर्स को तोड़ रहे हैं. इन आरोपों के जवाब में आचार्य ने कहा, ‘साल 2018 में शुरू हुए कानूनी विवाद के चलते सीडीए को छह महीने पहले बंद कर दिया गया था. हालांकि डेरिक बिस्वास, जाहिद शेख, अल फहीम सुरानी और रवि कंवर ने इस बारे में किसी अदालती आदेश को दिखाए बिना इसे दोबारा शुरू कर लिया साथ ही बिना चुनावों के पदों पर नियुक्तियां भी कर दी.

यह भी पढे़ं : डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हिना खान-कुशल टंडन की जोड़ी दिखेगी साथ

इसी के साथ आचार्य ने कहा कि मैं डांसर्स के साथ हूं, मैं भावनात्मक रूप से उनके साथ जुड़ा हुआ हूं. ये उनकी समस्या है और इसी वजह से वे मेरे खिलाफ बोल रही हैं.