डोकलाम विवाद: चीनी सेना लद्दाख से हटी पीछे, भारतीय सीमा में लगे पांचो तंबू भी हटाये

0

भारत और चीन दोनों ही तेजी से उभरते देश है. दोनों देशो की आबादी भी लगभग बराबर ही है. पिछले कई दशको से भारत और चाइना का सीमा विवाद चलता आ रहा है. ताजा मामला एक बार फिर डोकलाम का है. जहा चीनी सेना ने हाली में भारत की सीमा में 400 मीटर तक अंदर घुस आई थी.

पिछले साल शुरू हुआ था डोकलाम विवाद

दोनों देशो की बीच सीमा विवाद को लेकर टकराव कोई नई बात नहीं है. पिछले साल शुरू हुआ विवाद अभी तक थमा नहीं है. हाली में चीन ने फिर से भारत की सीमा में घुसपैठ की है. चीनी सैनिक पिछले एक महीने से भारतीय सीमा में मधेशियो के वेश में एक महीने तक तंबू लगा कर वही रहते रहे. हालाँकि भारतीये सेना ने उन्हें वह से जाने को कहा भी लेकिन वह फिर भी वह से नहीं हटे. ये विवाद करीब 73 दिन तक चला था. पिछले साल 28 अगस्त को ये विवाद खत्म हुआ.

यह भी पढ़े: डोकलाम में चीन ने फिर से दिखाई दादा गिरी, भारतीय सीमा में घुस गाड़े तंबू

पहले हटाये थे तीन तंबू अब बाकी दो भी हटाये

चीनी सैनिको द्वारा भारत की सीमा में पांच तंबू गाड़ दिए थे. जिसमे तीन ब्रिगडियर दोनों देशों की सेनाओं के बीच ब्रिगेडियर स्तर की बातचीत के बाद चीन ने पहले 3 टेंट हटाए थे. इसके बाद उसने अब बाकी 2 और टेंट हटा लिए हैं. आपको बता दे लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में भी दोनों देशों के बीच कई बार टकराव की स्थिति बनती है. डोक्लाम भारत का इलाका है जिससे चीन कई बार अपना इलाका बताता है.

चीन के साथ सीमा के ज्यादातर हिस्से के विवाद को सुलझा लिया गया: राम माधव

भाजपा नेता राम माधव ने बुधवार को कहा कि चीन के साथ पश्चिमी सेक्टर को छोड़कर सीमा के एक ‘बड़े हिस्से’ पर विवाद को सुलझा लिया गया है और बातचीत सकारात्मक दिशा में जा रही है. भाजपा महासचिव माधव ने भारतीय मीडिया से दोनों देशों के बीच सीमा वार्ता का कोई ठोस नतीजा नहीं निकलने की अटकलों को खारिज करते हुए कहा, ‘यह सही नहीं है. इस तरह की बातचीत में शामिल लोग अधिकतर मौकों पर इस विषय पर रोज हो रही प्रगति के बारे में खुलासा नहीं करते हैं. वह इस संबंध में किसी निर्णायक स्थिति में पहुंचने के बाद इसके बारे में बतायेंगे.