एशियाई खेल 2018:पहलवान बजरंग पूनिया ने एशियाई खेल में जीता गोल्ड, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया मैडल

0

18वे एशियाई खेलो का आगाज़ हो चूका है. इस बार यह खेल जकार्ता में खेले जा रहे है. इंडोनेशिया के दो बड़े शहर जकार्ता और पालेमबांग संयुक्त रूप से इसकी अगवानी की तैयारी कर रहे है. यह पहला मौका है जब दो शहरों को एशियाई खेलों की बागड़ोर संभालनी होगी.

पहले दिन पहलवान बजरंग ने जीता गोल्ड

18वें एशियाई खेलों मे पहलवान बजरंग पूनिया ने भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया है. रविवार को गेम्स के पहले दिन उन्होंने पुरुषों की 65 किलोग्राम भारवर्ग फ्रीस्टाइल स्पर्धा के फाइनल में जापान के ताकातानी दायची को  3-1, (11-8) से मात दी. सेमीफाइनल मुकाबले में बजरंग ने मंगोलिया के बाटमगनाई बैटचुलुन को 10-0 से मात दे फाइनल में प्रवेश किया था. दोनों पहलवानों के बीच जोरदार टक्कर देखने को मिली, लेकिन आखिर में बाजी बजरंग पूनिया ने मारी. आपको बता दे भारत की तरफ से इस बार 572 खिलाड़ी एशियाई खेलो में भाग लेने जकार्ता गए है. जिनसे इस बार ज्यादा से ज्यादा पदक जीतने की उम्मीद लगाई जा रही है.

बजरंग पूनिया ने ट्विट कर अपना मैडल अटल बिहारी वाजपेयी को किया समर्पित

जापानी खिलाड़ी को हरा बजरंग ने गोल्ड पर कब्ज़ा किया. मैच खत्म होने के कुछ देर बाद ही उन्होंने ट्विट कर लिखा की ‘यह यह गोल्ड में स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित करता हु. नमन.’ गोल्ड जीतने के बाद उन्हें देश भर से खूब बधाईयाँ भी मिली. क्रिकेटर वी.वी.एस लक्ष्मण, मोहम्मद कैफ, एक्टर सुनील शेट्टी, कुमार विश्वास ने भी पहलवान बजरंग पूनिया को ट्विट करके गोल्ड जीतने पर बधाई दी.

कब हुई थी एशियन गेम्स की शुरुआत ?

इन खेलो को शुरुआत 1951 में हुई यही. पहली बार इनका आयोजन देश की राजधानी दिल्ली में हुआ था. जकार्ता इससे पहले चौथे संस्करण की मेजबानी कर चूका है. इस बार वह 18वे संस्करण की मेजबानी कर रहा है. यह खेल हर चार साल में एक बार होता है.