वाल्मीकि रामायण के अनुसार हनुमान जी ने सीता जी को किस पेड़ पर बैठ कर संदेश दिया था ?

0
3676
image source :google
image source :google

वाल्मीकि रामायण के अनुसार हनुमान जी ने सीता जी को किस पेड़ पर बैठ कर संदेश दिया था ?

हिन्दू धरम में रामायण एक पवित्र ग्रन्थ के रूप में पूजा जाता है , रामायण के किस्से -कहानी हमें यह सीख देते है कि बुराई ज़्यादा दिन तक अपने पैर पसार नहीं सकती और सच कभी भी पराजय नहीं हो सकती है , बुराई चाहे कितनी भी बड़ी हो अच्छाई के सामने नहीं टीक सकती है ,जब कभी राम और सीता या फिर रावण की आती है तो उसके साथ ही रामायण काल और रावण की अशोक वाटिका भी जिक्र आता है।

अशोक वाटिका लंका यानि श्रीलंका में स्थित है। यही वो वाटिका थी जिसमें लंकापति रावण ने देवी सीता को एक वट वृक्ष के नीचे कैद करके रखा था।

सीता जी अशोक वाटिका

वाल्मीकि रामायण’ के अनुसार अशोक वाटिका लंका में स्थित एक सुंदर उद्यान था,और अशोक वाटिका में स्थित विशाल वट वृक्ष के नीचे रखा। यहां वो तकरीबन एक साल तक रहीं।

जिस वट वृक्ष के नीचे के नीचे सीता माता को रखा गया था उस वट वृक्ष क नाम शिंशपा था , जब रावण ने सीता माता को अशोक वाटिका में कैद किया था , तब श्री राम का सन्देश लेकर हनुमान जी सीता माता को ढूंढ़ते -2 अशोक वाटिका जा पहुंचे और तभी वहां रावण आता है और सीता माता को भय दिखाता है।

सीता माता रावण से कहती है , कि भगवान राम उसका लंका सहित संहार कर देंगे। रावण के जाने के बाद हनुमान जी भगवान राम द्वारा दी गई मुद्रिका माता सीता के सामने डालते हैं, जिसे वे पहचान लेते हैं। तभी वे अशोक वृक्ष से उतर उनके सामने आ जाते हैं।

यहां पर सीता और हनुमान का बड़ा ही मार्मिक संवाद होता है। इसके बाद हनुमान, सीता जी से अशोक वाटिका में लगे फलों को खाने का निवेदन करते हैं, जिसकी वे आज्ञा दे देती हैं।

वाल्मीकि रामायण

उसके बाद हनुमान ने रावण की लंका को तहस-नहस कर कर सीता माता का सन्देश श्री राम को पहुंचाया। रामायण का यह किस्सा काफी ही रोचक है , और आज के जीवन के सन्दर्भ में यह सीख देता है कि बुराई और गलत कितने भी बलशाली क्यों न हो जीत सच्चाई की ही होती है।

यह भी पढ़ें: जब श्री राम और हनुमान जी के बीच हुआ युद्ध।

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.