ये है वो आदमी जो भारत की ब्रह्मोस मिसाइल की जानकारी बेच रहा था पाकिस्तान को

0

कहते है की किसी भी देश की रक्षा को भेदने के लिए उस देश पर हमला बोलने की बजाए उस देश के भेदिये से देश की खुफिया जानकारी हासिल करना ही जीत होती है। ऐसा ही कुछ भारत की रक्षा अनुसंधान संगठन के साथ हुआ है। सुरक्षा अधिकारियों नें DRDO  के एक कर्मचारी को सिर्फ़ इसलिए गिरफ्तार कर लिया, क्योंकि उस पर देश की ब्रह्मोस मिसाइल की जानाकारी पाकिस्तान को बेचने का आरोप है।

आरोपी DRDO में ही कार्यरत है

आरोपी की पहचान निशांत अग्रवाल के रुप में हुई है, निशांत अग्रवाल उत्तराखंड से आते है। वे चार साल से DRDO में कर्यरत है। आरोपी के पास से ब्रह्मोस मिसाइल से जुडी जानकारी है। वह अमेरिका के साथ पाकिस्तान को भी ब्रह्मोस मिसाइल की जानकारी दे रहा था।

इससे पहले रविवार रात को इसी टीम नें कानपुर से एक महिला को गिरफ्तार किय था, हालांकि उसके पास से ब्रह्मोस मिसाइल की कोई जानकारी नहीं मिली।

भारत और रुस नें मिलकर बनाई थी ब्रह्मोस मिसाइल

ब्रह्मोस मिसाइल भारत और रुस नें मिलकर बनाई है। इस मिसाइल का नाम भारत की ब्रहमपुत्र नदी और रुस की मस्कवा नदी के नाम पर रखा था। ब्रह्मोस मिसाइल की मारक क्षमता 3700 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से 290 किलोमीटर तक के ठिकानों पर अटैक कर सकती है।