उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतने के लिए योगी की नई रणनीति, भाजपा के नेता गांव-गांव करेंगे पदयात्रा

0

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा पार्टी कोई न कोई हथकंडे अपनाती नजर आ रहीं है. बता दें कि भाजपा पार्टी इसके लिए मेगा प्लान बना रहीं है. संघ और बीजेपी नेताओं के बीच हुए समन्वय बैठक का असर सूबे में काफी देखने को मिलता है.

योगी आदित्यनाथ बाइक रैली का नेतृत्व करके गांव-गांव ‘कमल संदेश पहुंचाएंगे

ये ही नही पार्टी संगठन एक साथ जमीन पर उतरकर प्रचार करने की रणनीति बना रहीं है. जहां एक तरफ योगी आदित्यनाथ बाइक रैली का नेतृत्व करके गांव-गांव ‘कमल संदेश पहुंचाएंगे. वहीं, कमजोर मानी जाने वाली संसदीय सीट जीतने का जिम्मा योगी सरकार के दिग्गज मंत्रियों के कंधों पर सौंपा गया है.

17 नवंबर से राज्य में 80 लोकसभाओं क्षेत्रों में कमल संदेश बाइक रैली निकालेंगी

बता दें कि भाजपा सरकार 17 नवंबर से राज्य में 80 लोकसभाओं क्षेत्रों में कमल संदेश बाइक रैली निकालेंगी. मुख्यमंत्री योगी और प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य बड़े पार्टी पदाधिकारी और यूपी सरकार के मंत्री बाइक पर स्वर होकर रैली में शामिल होंगे.यह बाइक रैली हर जिले में अपने शुभारंभ स्थल से निकलकर अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में जाएगी.

25-25 कार्यकर्ताओं की 6 अलग-अलग टोलियां बनाकर 150 किलोमीटर पदयात्रा करेंगे

वहीं योगी खुद भी बाइक पर सवार होकर इस कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे. इसके अलावा दोनों उपमुख्यमंत्री भी बाइक चलाएंगे. दिसंबर से बीजेपी सरकार गांव-गांव जाकर चुनाव के लिए अपनी ओर आकर्षित करेगी. महात्मा गांधी की जयंती के 150वें वर्ष पर पार्टी द्वारा एक दिसंबर से 15 तक प्रदेश के सभी 403 विधानसभाओं में पद यात्रा का आयोजन करेगी. इस पदयात्रा के दौरान प्रत्येक विधानसभा में पार्टी के कम से कम 25-25 कार्यकर्ताओं की 6 अलग-अलग टोलियां बनाकर 150 किलोमीटर पदयात्रा करेंगे.

यह भी पढ़ें: यूपी के सीएम योगी ने तमाम नेताओं को पछाड़कर गूगल सर्च में बनाया रिकॉर्ड

3 महीने का कैलेंडर कार्यकर्ताओं और नेताओं के लिए जारी किया है 

इसके बवजूद 26 जनवरी को केंद्र सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों के घर में पार्टी कार्यकर्ता दीपक भी जलाएंगी. इस कार्यक्रम को भाजपा पार्टी जनवरी से शुरू करेगी. हालांकि लोकसभा और विधानसभ चुनाव को देखते हुए बीजेपी ने पूरे 3 महीने का कैलेंडर कार्यकर्ताओं और नेताओं के लिए जारी कर दिया है. यही कारण है भाजपा आप अपने कार्यकर्ताओं को जमीनी स्तर पर उतारने की पूरी-पूरी तैयारियों में है.