तीन तलाक कानून, आर्टिकल-370 और CAB के बाद क्या होगा BJP का अगला निशाना

0
cab
तीन तलाक कानून, आर्टिकल-370 और CAB के बाद क्या होगा BJP का अगला निशाना

नागरिकता संशोधन विधेयक के संसद के दोनों ही सदनों में पास हो गया है. इसी के साथ ही केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी के अगले कदम को लेकर बात की जा रही है. बता दें कि अनुच्छेद 370 हटाने और एक बार फिर से तीन तलाक की प्रथा को खत्म करने और नागरिकता संशोधन कानून लाने का वादा किया था. जोकि लगभग पूरा किया जा चुका है.

अब इस बात को लेकर चर्चा हो रही है, या फिर कयास लगाना शुरू कर दिया है कि बिजेपी का अगला कदम क्या होगा. मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव में जीत के करीब 7 महीनों के अंदर ही इन तीनों वादों को ही पूरा कर दिया है. कहा जा रहा है कि पार्टी समान नागरिक संहिता पर आगे बढ़ सकती है.

हालांकि बीजेपी नेताओं का कहना है कि अभी पार्टी की प्राथमिकता देशभर में एनआरसी लागू करवाना है. बीजेपी नेताओं का कहना है कि तीन तलाक कानून, समान नागरिक संहिता की दिशा में एक बड़ा कदम है. भविष्य में इस पर भी आगे बढ़ाया जा सकता है. फिलहाल पार्टी की प्राथमिकता देशव्यापी एनआरसी लागू करने का ऐलान गृह मंत्री कर चुके है.

बीजेपी नेताओं का कहना है कि इसके लिए कानून लाने की भी जरूरत नहीं है और यह शासन के आदेशो के जरिए भी हो सकता है. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र यह बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. वहीं, दूसरी तरफ समान नागरिक संहिता एक ऐसा मुद्दा है, जो बीजेपी की बुनियादी विचारधारा के बेहद करीब है और हमेशा से पार्टी के घोषणापत्र का हिस्सा रहा है.

यह भी पढ़ें : राज्यसभा में नागरिकता बिल की पेशी: जानिए- सदन में कौन किसके साथ

बताते चले कि राज्यसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े है वहीं दूसरी और 99 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया हैं. लोकसभा में बिल के समर्थन में वोट करने वाली शिवसेना ने राज्यसभा में वोट से बायकॉट किया है. फिलहाल जिस तरह बीजेपी ने अनुच्छेद 370 को खत्म और तीन तलाक को लेकर वाहवाही लूटी है. उसके बाद ये आशंका होने लगी है कि भाजपा अपने कोर वोट बैंक यानी सवर्ण तबके को खुश करने के लिए कोई बड़ा कदम उठा सकती है. ऐसा भी कहा जा रहा है कि अब बीजेपी का अगला निशाना आरक्षण हो सकता है.