इस विधि विधान से सावन में करेंगे भोलेनाथ की पूजा तो, शिवजी होंगे प्रसन्न

0

नई दिल्ली: सावन के महीना आज से शुरू हो चुका है. इन दिनों भोले-भंडारी शिवजी जी की पूजा की जाती है. शिवजी के आगमन के स्वागत की तैयारी शुरू कर दें.

आपको बता दें कि इस बार सावन का महिना शनिवार से शुरू हुआ है, यह एक बहुत अच्छा संयोग बना है. लेकिन सावन में सोमवार से शिव पूजा करने से पहले तैयारी के लिए एक अच्छा मुहूर्त निकला है. 30 जुलाई से सावन का सोमवार है. इस सोमवार के दिन व्रत रखना काफी शुभ प्रतीत होगा. आज यानी 28 जुलाई श्रवण नक्षत्र है. सावन आज श्रवण नक्षत्र से प्रारंभ हुआ है. ऐसे में भोले-भंडारी अपने साथ भारी वर्षा लेकर आए है. ऊपर से इस बार दो सूर्य और एक चंद्र ग्रहण भी हुए हैं.

इन दिनों अगर पूरे विधि-विधान के साथ शिवजी की पूजा की जाए तो धन दौलत, घर, वाहन आदि प्राप्त होता है. इस दौरान जिन की शादी ने हो पा रही है, उनकी शादी होने का वरदान मिलेगा. सावन का यह महीना सुहागन स्त्रियों के लिए उनके पति की उन्नत्ति और दीर्घायु के लिए बहुत लाभ देने वाला होगा.

इन बातों का सावन के दौरान रखें खास ध्यान

  • श्वेत चावल साबुत होने चाहिए और सुगन्धित होने चाहिए.
  • भोलेनाथ जी के ऊपर चमेली, जूही, मोगरा सामान सफेद फूल 10-10 की संख्या में चढ़ाना चाहिए.
  • शिव पूजा के दौरान चमेली का तेल, मेहंदी की सुंगध वाली अगरबत्ती का प्रयोग करें.
  • शिव जी पर बेर जरुर चढ़ाएं.
  • शिवलिंग के पास सुगन्धित अगरबत्ती और घी का दीपक जलाना चाहिए.
  • भोलेनाथ पर एक जनेऊ और भांग जरुर चढ़ाएं.

शिवजी पर क्या-क्या चीजों को न चढ़ाएं

  • शिवजी जी पर हल्दी, कुमकुम, लाल फूल सड़े-गले फल और मिठाई न चढ़ाएं, बल्कि सफेद बताशे को चढ़ाएं.
  • शिवजी पर चढाया हुआ प्रसाद कभी न खाएं.

सोमावर को ये पूजन सामग्री शिवजी पर चढ़ाएं

शुभ विवाह चाहने वाली कन्याएं, नौकरी व्यापार और तरक्की के लिए इन चीजों का शिवजी पर चढ़ाएं.

  • शिवलिंग के पूजन के लिए तांबे के लोटा दूध, जल, सफ़ेद फूल और चावल, गुलाब का फूल का प्रयोग करें. शिवलिंग के लिए धतूरा और बेल पत्र का उपयोग करें.
  • शिवजी पर चढ़ाने के लिए कपूर लौंग का भस्म और रुद्राक्ष जुटा लें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × two =