ग्रेटर नोएडा में कांवड़ियों के दो गुटों में हुआ खूनी संघर्ष

0

नई दिल्ली: देश भर में सावन का महिना चल रहा है इस समय जगह-जगह तमाम कांवड़ियों की टोली देखने को मिलती है. इस बीच ग्रेटर नोएडा के पचायतन गांव में कांवड़ियों के दो गुटों में शिवरात्रि के दिन भंडारा करने और चंदा  इक्कठा करने को लेकर खूनी संघर्ष हुआ. इस दौरान दोनों ही पक्षों से खूब मारपीट देखने को मिली. दोनों ओर से जमकर लाठी डंडे चले और पथराव भी हुआ. इस झड़प के कारण दोनों तरफ से करीब एक दर्जन से अधिक लोग जख्मी हुए है. जिनको बहरहाल, पास के निजी और नोएडा के जिला अस्पताल में एडमिट करवाया गया है.

ये ही नहीं कांवड़ा की जगह कुछ लोगों हाथों में रायफल, लाठी और तलवार लेकर दूसरे गुट को धमकाने लगे. देखते ही देखते बात इतनी बड़ा गई कि दोनों गुटों में लड़ाई हो गई. आरोप है कि एक गुट ने इस झड़प में गोलियां भी चला दी, जिसके कारण गांव में हलचल सी मच गई.

यह भी पढ़ें: हर धर्म के लोग कर रहे कांवड़ियों की मदद, पेश की सेकुलरिज्म की मिसाल

एक गुट ब्रहम सिंह का व दूसरा गुट महेंद्र सिंह

आपको बता दें कि पहले पचायतन गांव में सभी लोगों मिलकर एक टोली बनाकर कांवड़ लेने जाते थे. लेकिन इस बार कांवड़ लाने वालों का दो पक्ष बन गया. बताया जा रहा है कि एक गुट ब्रहम सिंह का व दूसरा गुट महेंद्र सिंह का था. कांवड़ लेने से पहले एक गुट के लोग गांव के मंदिर पर पूजा कर रहे थे और शिवरात्रि के दिन आयोजित होने वाले भंडारे के लिए चंदा इकट्ठा कर रहे थे. आरोप है कि इस बीच दूसरे पक्ष ने आकर मारपीट शुरू कर दी.

दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज- ग्रेटर नोएडा के एसपी

पुलिस के अनुसार, ये घटना दोनों पक्षों में शिवरात्रि के दौरान भंडारा करने के समय हुई थी. एक पक्ष ने भंडारा करने से मना कर दिया तो दूसरा पक्ष भंडारा करने के लिए चंदा इक्कठा करना शुरू कर दिया. इसी दौरान विपक्षी गुट न आकर मारपीट शुरू कर दी. इस मामले को लेकर ग्रेटर नोएडा के एसपी ने कहा है की मामले की जांच की जा रही है और दोनों पक्षों के दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 5 =