जानें जनता कर्फ्यू लगाने के सामाजिक और वैज्ञानिक कारण

janta curfew
janta curfew

जानें जनता कर्फ्यू लगाने के सामाजिक और वैज्ञानिक कारण

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश की जनता से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का पालन करने का अनुरोध किया. अब ये सवाल आप सबके मन में उठता होगा कि इससे कोरोना वायरस से जंग में क्या सहयोग मिलेगा या फिर इसके सामाजिक और वैज्ञानिक कारण क्या थे. आज आपको इन सब सवालों का जवाब जानने को मिलेगा. उससे पहले आपको बता दें कि कोरोना वायरस एक इंसान से दूसरे में फैलने वाली बीमारी है.

अगर समय रहते हमने इसको गंभीरता से नहीं लिया तो यह हमारे लिए बहुत बड़ी समस्या बन जाएगी. बाद में इसे नियंत्रित करना मुश्किल होगा. इससे हमें घबराने की भी जरूरत नहीं है. इसके लिए हमें सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना है तथा अपने और अपने परिवार को इस बीमारी से बचा कर रखना हैं. चलिए अब जानते हैं कि जनता कर्फ्यू के सामाजिक और वैज्ञानिक कारण क्या थे-

सामाजिक कारण – जनता कर्फ्यू का सबसे महत्तवपूर्ण कारण यह था कि प्रधानमंत्री जी इसके द्वारा लोगों को ये संदेश देना चाहते थे कि कोरोना वायरस से लड़ाई में पूरे देश को एक साथ मिलकर चलना होगा. इससे बचाव के लिए सिर्फ सरकार द्वारा लिए गए कदम काफी नहीं है, जनता को भी अपनी तरफ से पूरा सहयोग देना होगा. इसके साथ ही गाँव के लोगों को भी इसके द्वारा जागरूक करना कि हम एक-दूसरे से दूरी बनाकर तथा घरों में रहकर इससे बच सकते हैं. इसके साथ ही इससे ये भी संदेश देने की कोशिश की गई कि जनता को भी अपनी जिम्मेदारी खुद समझनी चाहिए तथा आने वाले समय में सरकार यदि सख्त कदम उठाए, तो जनता पहले से उनके बारे में जागरूक रहे तथा किसी तरह की अफवाह में ना आए.

यह भी पढ़ें: क्या हमारे देश में Sex Education जरूरी है ?

वैज्ञानिक कारण – इसका सबसे बड़ा वैज्ञानिक कारण यह है कि कोरोना वायरस एक-दूसरे के संपर्क में आने से फैलता है. यदि लोग अपने घर से नहीं निकलेगें, तो नए लोगों को इससे संक्रमण का खतरा नहीं होगा. सरकार अभी सभी का एक साथ Test नहीं कर सकती. अगर कोई कोरोना वायरस से पीड़ित है तथा वह लोगों के संपर्क में आता है या सार्वजनिक स्थानों पर जाकर किसी वस्तु को छुता है, तो वहां से भी इसके फैलने की संभावना है. इसी कारण जनता कर्फ्यू के द्वारा लोगो को घरों में रहने को कहा गया,ताकि यह वायरस ज्यादा ना फैलें.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.