सवाल 147: ताजमहल के नीचे जाने पर पाबंदी क्यों है ?

TAJMAHAL
TAJMAHAL

ताज महल दुनिया के 7 अजूबो में से एक है और यह अपनी सुंदरता के साथ – साथ अपने अनूठे इतिहास के बारे में भी दुनियाभर में मशहूर है। लेकिन ताजमल से संबधित आज भी ऐसे कई रहस्य है जिनसे आम जनता परचित नहीं है। आपको ताजमहल के कुछ ऐसे रहस्य से अवगत करना चाहेंगे। ताजमहल के तहखाने का रहस्य

साल 1631 में ताजमहल का निर्माण कार्य शुरू करवाया गया था। साल 1653 तक ताजमहल बनकर तैयार होगया था। ताजमहल के नीचे हजार से भी ज्यादा कमरे हैं। इसे आज भी निर्माण कुशलता का एक विशाल नमूना कहा जाता है। शोधकर्ताओं ने इस पर कई शोध किए और उनका मानना है कि ताजमहल के नीचे हजार से भी ज्यादा कमरे हैं। उनका मानना है कि ताज महल जितना ऊंचा है, यह धरती के अंदर भी उतनी ही गहराई तक मनाया गया है। उस जमाने में कोई भी किला बनाया जाता था, तो उसमें से बाहर निकलने का रास्ता भी बनाया जाता था। और ऐसा ही ताजमहल के अंदर भी है, इसके नीचे से एक रास्ता भी है जो कहीं बाहर निकलता है। लेकिन और रहस्यमई तहखानों की तरह उस रास्ते को भी शाहजहां के समय से ही बंद करवा दिया गया।

ताजमहल के नीचे के इन कमरों को ईटो से बंद करवाया गया। लेकिन शोधकर्ताओं का मानना है कि जिन ईटो से तहखाने को बंद किया गया है इन ईटो का निर्माण इन कमरों के बाद किया गया। लेकिन आखिर क्या वजह थी जो इन कमरों को बनाने के बाद इन्हें बंद करना पड़ा। कुछ पुरातत्व विज्ञान और शोधकर्ताओं कि इस पर अलग-अलग राय है। कुछ का मानना है कि इन तहखानों में मुमताज महल की कब्र को रखा गया है, और उन कमरों को सरकारी तौर पर बंद कर दिया गया है। लेकिन इसको बंद करने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है।

अगर पुरातत्व शास्त्री और लेखकों की मानी जाए तो इस जगह पर पहले एक शिव मंदिर था और उसे तेजो महालय कहा जाता था। बाद में उसके ऊपर ताजमहल का निर्माण करवाया गया, इसलिए यह तहखाने ताज महल से भी पुरानी है। ऐसा भी अनुमान लगाया जा रहा है की ताजमहल के नीचे इन तहखानों में कीमती खजाने भी हो सकते हैं। क्योंकि मेटल डिटेक्टर से इनके नीचे कई तरह की धातुएं होने की पुष्टि हुई है। लेकिन पुरातत्व शास्त्रियों का यह भी मानना है कि इसके अंदर कई ऐसे ऐतिहासिक दस्तावेज भी हो सकते हैं जो हमारे इतिहास तक को बदल सकते हैं। इन तहखानों की खोजबीन की खबरें तो काफी आई, लेकिन इसे कभी खोला नहीं जा सका।

यह भी पढ़ें : सवाल 146 : कुरुक्षेत्र के युद्ध में किसने किया था शकुनि का वध?

इनमें से कई दरवाजे तो खोले गए लेकिन बाद में बंद कर दिए गए, जिससे यह रहस्य और भी गहरा जाता है। अब आपको पता चला की ताजमहल के नीचे जाने पर पाबंदी क्यों लगई है? ऐसा रहस्य है जिसे जानने के लिए दुनिया के हर एक कोने में शोध चल रहा है , बहुत से लोग इस रहस्य की तह तक पहुँचने की जद्दोजहत में जुट हुए है।

आशा है आपको ताजमहल का यह अनुसना रहस्य पसंद आया होगा। आप लोग ऐसे ही हमसे सवाल पूछते रहिए हम उनका जवाब खोज कर आप को देते रहेंगे।