महंगाई और रोजगार पर काम करने की रामदेव ने दी नसीहत

0
RAM DEV
RAM DEV

देश की अर्थव्यवस्था की हालत काफी खस्ता चल रही है। विपक्ष के साथ आम जनता सरकार से अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी के मुद्दे पर जवाब मांग रही है। यह खबर भी काफी उछाल में है की दुनिया की कई बड़ी एजेंसियों ने भारत की GDP के अनुमान को घटाया है मतलब की भारत की अर्थव्यवस्था में और भी मंदी देखी जा सकती है। अब यह अनुमान लगया जा रहा है कि जीडीपी 5% के नीचे चला जायेगा। इसी बीच योग गुरु रामदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार को अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी पर घेरा है साथ ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साल 2020 के लिए अपने एजेंडे को सामने रखा।

प्रेस कांफ्रेंस कर योगगुरु रामदेव बाबा ने देश में चल रहे कई मसलों पर अपनी राय रखी। उन्होंने साथ ही यह भी कहा जो भी प्रदर्शन के दौरान आजादी के नारे लगा रहे हैं, वो पूरी तरह से गलत है. ये देश हर किसी का है। रामदेव ने कहा कि अभी देश में महंगाई और बेरोजगारी पर काम करना जरूरी है. विपक्ष पार्टी को भी देश के लाभ को देखना चाहिए और राजनीति हर मुद्दे में नहीं करनी चाहिए, एक वक्त था जब देश में लाखों-करोड़ों रुपये के घोटाले भी हुए हैं लेकिन हमें इसपर ध्यान देना होगा।

योगगुरु रामदेव का यह भी बयान सामने आया कि मलेशिया, इंडोनेशिया जैसे देशों ने भारत के संदर्भ में गलत बयान दिए है। इसी वजह से भारत सरकार ने सख्त कार्रवाई का रास्ता अपनाया है। रामदेव ने कहा कि शिक्षा, व्यापार और संस्कृति के क्षेत्रों में अभी भी हम गुलामी का शिकार हो रहे हैं। जनसंख्या नियंत्रण के मसले पर उन्होंने कहा कि देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कदम बढ़ाने चाहिए क्योंकि जमीन या रिसॉर्स को बढ़ाना तो संभव नहीं है।

यह भी पढ़ें : NCRB आंकड़ों का खुलासा, हर 2 घंटे में 3 बेरोजगार कर रहे हैं आत्महत्या

साथ ही रामदेव ने CAA पर भी अपनी राय जाहिर की उनके अनुसार प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने अपनी बातों से यह साफ़ किया की यह कानून देश -विरोधी नहीं है। इससे देश के नागिरकों का कुछ लेना-देना नहीं है। जो प्रदर्शन CAA पर हो रहा है उसमे राजनीतिक पार्टियों शामिल है। कुछ लोग अल्पसंख्यकों को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहे है।