पीएम मोदी का विपक्ष पर कड़ा प्रहार, दिया सभी आरोपों का सिलसिलेवार जवाब

0

अविश्वास प्रस्ताव ला कर उल्टा मुह की खाई विपक्ष ने 

शुक्रवार को सदन में लगभग 10 घंटे तक चली चर्चा में पक्ष-विपक्ष की काफी नौक झौक देखने को मिली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने आक्रामक रूप दिखाते हुए मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की. वही पीएम मोदी अकेले पूरे विपक्ष भारी पड़ते हुए दिखाई दिए. अपनी शानदार भाषण शैली के साथ बोलते हुए उन्होंने विपक्ष के आरोपों को एक-एक करके धुल में मिला दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गाँधी के आरोपों पर जबरदस्त पलटवार किया.दिन ख़तम होते-होते अविश्वास प्रस्ताव भी औंधे मुह गिर गया. विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव भारी मतों से खारिज हो गया. सरकार के पक्ष में 325 मत मिले वही 147 मतों की आशा लगाये विपक्ष सिर्फ 125 मत ला पाने में कामयाब रहा. पीएम मोदी ने 2024 में विपक्ष को अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कहकर यह संदेश देने का प्रयास भी किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए को कोई चिंता नहीं है.

क्या रही PM मोदी के भाषण की अहम बातें ?

अहंकार में डूबी हुयी है कांग्रेस

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले चार साल में देश में हुए विकास के इतने कार्यों के बावजूद ‘अहंकार’ के कारण अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है. प्रधानमंत्री ने विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में हुई चर्चा का जवाब देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर विशेष निशाना साधा. उन्होंने राहुल गांधी की ओर से अपने पास आकर गले मिलने के घटनाक्रम का जिक्र किया और कहा, ‘उनका एक ही मकसद है मोदी हटाओ. मैं हैरान हूं कि सुबह चर्चा शुरू हुई थी, मतदान भी नहीं हुआ था, जय पराजय का फैसला भी नहीं हुआ था, लेकिन उन्हें यहां पहुंचने का इतना उत्साह है कि आकर (मुझसे) बोले, उठो उठो.’ उन्होंने कहा, ‘‘यहां कोई न उठा सकता है, न बैठा सकता है. सवा सौ करोड़ देशवासियों ने बैठाया है. सवा सौ करोड़ देशवासी उठा सकते हैं. इतनी जल्दबाजी क्या है.’ मोदी ने कहा, ‘‘उनका एक ही मकसद है, मैं ही प्रधानमंत्री बनूंगा. इसके लिए कम से कम अविश्वास प्रस्ताव का बहाना तो न बनाइए.’

यह भी पड़े: जब राहुल गाँधी ने मारी आंख और सब बस देखते रह गए

 

आँखों की हरकत सबने देखी

कांग्रेस अध्यक्ष के आँख मरने वाली हरकत पर प्रधानमंत्री ने तंज कसते हुए कहा की आँख की बात करने वालो की हरकतों को आज पुरे देश ने देख लिया की आप कैसे आँख चला रहे थे.

कांग्रेस बचकानी हरकतों से बाज़ आये

एक शायरी में उन्होंने कहा की ‘माझी न रहभर न हक़ में है हवाएं है, कश्ती भी जर्जर यह कैसा है सफ़र. सीधे तौर पर उनका कहना का मतलब था की जिस तरीके से वह बचकाना हरकत कर रहे है वह देश के लिए ठीक नही है. पीएम ने अपने भाषण में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा की अगर मुझे यहाँ से कोई हटा सकता है तो वो है देश की 125 करोड़ जनता.

एक कामदार नामदार से कैसे आंखे मिला सकता है

राहुल ने अपने भाषण में पीएम को चुनोती देते हुए कहा था की वह उनसे आंखे नही मिला सकते.इस पर पीएम मोदी ने मुहतोड़ जवाब देते हुए कहा की मैं गरीब माँ का बेटा आपसे कैसे आँख मिलाऊंगा. आप तो नामदार हो जी, हम तो कामदार है.

राफेल-डोक्लाम पर चेताया

पीएम ने बीना राहुल गाँधी का नाम लिए कहा की जब हम डोक्लाम पर स्थिति संभाल रहे थे तब आप चीन के राजदूत से मुलाकात कर रहे थे. मोदी ने लताड़ लगाते हुए कहा की देश के विषयों पर गंभीरता होनी चाहिए. बचकानी हरकत करने से बचना चाहिए. राफेल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा की यह समझोता दो देशो के बीच हुआ है और पूरी पारदर्शिता के साथ हुआ है.

सेना को निशाने पर ना लाया जाये

अपने भाषण के दौरान उन्होंने ने कहा की गाली देनी है तो मुझे दीजिये, मैं आपकी सारी गालियाँ सुनने को तैयार हु लेकिन  सर्जिकल स्ट्राइक को जुमला स्ट्राइक कह कर सेना के जवानों को मनोबल ना गिराया जाये. वह अपनी जान जोखिम में डाल हमारी हिफाज़त के लिए सरहद पर खड़े है.

9 महीने में 50 लाख लोगों को रोजगार मिला

रोजगार का जिक्र करते प्रधानमंत्री ने कहा कि सितंबर 2017 से मई 2018 तक नौ महीने में संगठित क्षेत्र में 50 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है. एक साल के लिये यह आंकडा जोड़ें तक यह संख्या 70 लाख होगी . संगठित और असंगठित क्षेत्र में एक साल में एक करोड़ लोगों से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है और यह एक स्वतंत्र एजेंसी का आंकड़ा है.

अपने लगभग एक घंटे के भाषण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राहुल गाँधी के सारे आरोपों का मुहतोड़ जवाब दिया. सोनिया गाँधी से लेकर राहुल और तेलुगु दिशं पार्टी के सांसदों के सभी सवालो का भी जबाब दिया.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − 13 =