ईरान ने किया स्वीकार, गलती की वजह से मार गिराया था यूक्रेन का विमान

Iran
ईरान ने किया स्वीकार, गलती की वजह से मार गिराया था यूक्रेन का विमान

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव को यूक्रेन के यात्री विमान के क्रैश होने से जोड़ा जा रहा है. अब 176 बेकसूर लोगो की जान जाने की वजह इन दोनों ही देशों का तनाव सामने आ रहा है. दरअसल ईरान की रिवॉल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स के मुखिया और उसकी क्षेत्रीय सुरक्षा व्यवस्था के आर्किटेक्ट जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से शुरू हुए एक विवाद में गलती ने 176 लोगों की जान ले ली.

ईरान की राजधानी तेहरान से यूक्रेन के यात्री विमान के उड़ान भरने के चंद मिनटों बाद बाद उसके क्रैश होने की खबरें आई थीं. अमेरिका, यूके और कनाडा ने शक जाहिर किया था कि प्लेन क्रैश होने की घटना टेक्निकल नहीं थी, बल्कि ईरान ने उसे मार गिराया था. इन देशों का शक सही निकला और अब ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने माना है कि मानवीय गलती की वजह से यह चूक हुई थी. उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट कर खेद व्यक्त किया है.

वहीं ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने शनिवार सुबह एक ट्वीट कर इस गलती को स्वीकार किया है. उन्होंने लिखा, ‘एक दुखद दिन. सशस्त्र बलों द्वारा की गई आंतरिक जांच के प्रारंभिक निष्कर्ष में सामने आया कि अमेरिका की वजह से यह मानवीय चूक हुई है. हम इसपर दुख जताते हैं. सभी पीड़ितों के परिवारों से और अन्य प्रभावित राष्ट्रों से हम माफी मांगते हैं और संवेदना व्यक्त करते हैं.’

यह भी पढे़ं : बलूचिस्तान में स्थित मस्जिद में धमाका, पुलिस सहित 15 लोगों की मौत, 13 घायल

बताते चलें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शक जताया था कि यूक्रेन का यात्री विमान टेक्निकल फॉल्ट की वजह से क्रैश नहीं हुआ बल्कि उसे ईरान ने उसे धोखे से मार गिराया था. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने दावे के साथ कहा था कि उनको इंटेलिजेंस के जरिए जो जानकारी मिली है उसके अनुसार, ईरान ने गैर-इरादतन प्लेन को मिसाइल अटैक से मार गिराया.