इंस्टाग्राम के इस नए फीचर से अब काइली जेनर भी होंगी परेशान

0
Instagram
Instagram

डिजिटल की इस दुनिया में सबसे बड़ा सुख यह हो गया है कि आपकी शेयर की गयी चीज़ को जब इम्प्रैशन मिलते हैं। यह लाइक्स, सब्सक्राइब और फॉलो होता है। फोटो शेयरिंग का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम लाइक्स के मामले में बहुत बड़ी टेस्टिंग करने जा रहा है। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं।

ऐसा लगता है कि इंस्टाग्राम पोस्ट पर आपके द्वारा लाइक की संख्या के कारण रवैये से खिलवाड़ करने का युग समाप्त हो रहा है। फेसबुक के स्वामित्व वाले सोशल नेटवर्क इंस्टाग्राम ने पुष्टि की है कि जो टेस्ट हुआ है उसके मुताबिक किसी भी सेलिब्रिटी द्वारा शेयर किये पोस्ट पर जो भी लाइक्स आते हैं वह केवल शेयर करने वाला ही जान पायेगा। जो यूजर किसी सेलिब्रिटी को फॉलो करते हैं तो फॉलोवर यह नहीं देख पाएंगे कि उस फोटो पर कितने लाइक्स आये हैं।

यह टेस्ट अभी US, कनाडा, आयरलैंड, इटली, जापान, ब्राज़ील, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में हुआ है। इंस्टाग्राम के इस नए टेस्ट से सेलिब्रिटियों को सबसे ज्यादा नुकसान होगा क्योकि उन्हें लाइक्स और फॉलोवर के दम पर उनकी हैसियत दिखती है और इस हिसाब से उनकी मार्केटिंग रहती है। इस फीचर से सबसे ज्यादा लाइक्स पाने वाली काइली जेनर को परेशानी हो सकती है।

इंस्टाग्राम मई से अलग-अलग देशों में धीरे-धीरे इस टेस्ट को शुरू कर रहा है, इस मानसिकता को बदलने की कोशिश में जहां इंस्टाग्राम यूजर केवल लाइक्स के लिए मछली पोस्ट कर रहे थे, और शायद वास्तव में वे पोस्ट नहीं करते जो वे वास्तव में चाहते थे।

वास्तव में, लाइक्स खरीदने के लिए थर्ड-पार्टी ऐप्स और टूल्स का उपयोग करने का बहुत ही काम इंस्टाग्राम पर एक बड़ी समस्या बन गया था, जिसने एक पोस्ट के साथ वास्तविक इम्प्रेसन को प्रभावी ढंग से छिपा दिया। इन्फ्लुएंसर जो अक्सर मानते हैं कि सोशल मीडिया का प्रभावपूर्ण होना पूर्णकालिक काम है, इससे काफी चिंतित होंगे और इसलिए जो ब्रांड इंडोर्स करते हैं उसपे फर्क पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: 9 साल की उम्र में ग्रेजुएशन पूरा करेगा यह बच्चा, जानें कैसे?

एक ऑनलाइन एंटी-फ्रॉड कंपनी, Sway Ops द्वारा 2017 के एक शोध में बताया गया है कि ये तथाकथित प्रभावित करने वाले वास्तव में ब्रांड के लिए जो वादा करते हैं, वैसा नहीं होता है। बड़े बड़े ब्रांड फर्जी लाइक्स और फॉलोवर खरीदकर अन्य यूजर को प्रभावित करते रहें हैं। ब्रांड के लाइक्स और फॉलोवर को देखकर यूजर उनके प्रोडक्ट पर बहुत जल्दी विश्वास कर लेते हैं। इंस्टाग्राम इसलिए इस फीचर को बंद करना चाहता है।