Home Health गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ?

गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ?

0
215
गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ? ( How much weight should a pregnant woman gain in which month? )
गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ? ( How much weight should a pregnant woman gain in which month? )

गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ? ( How much weight should a pregnant woman gain in which month? )

गर्भवती महिला – माँ बनना एक सुखद अनुभव होता है. लेकिन जब कोई महिला गर्भवती होती है, तो यह समय स्वास्थ्य के नजरिये से भी बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. आमतौर पर कहा जाता है कि हमें छोटी छोटी चीजों को इग्नोर कर देना चाहिएं. लेकिन यह एक ऐसी अवस्था होती है, जिसमें हम छोटी से छोटी चीज को भी इग्नोर नहीं कर सकते हैं.

इस समय की गई लापरवाही का असर सीधे तौर पर माँ और बच्चे की सेहत से जुडा हुआ होता है. यहीं कारण है कि लोगों के मन में इस अवस्था में सेहत का ध्यान रखने से संबंधित कई तरह के सवाल होते हैं. इसी तरह का एक सवाल जो आमतौर पर पूछा जाता है कि गर्भवती महिला का किस किस महीने में कितना वजन होना चाहिए ? अगर आपके मन में भी ऐसा ही सवाल है , तो इस पोस्ट में इसी सवाल का जवाब जानते हैं.

गर्भवती महिला
गर्भवती

गर्भवती महिला का वेट क्यों बढ़ता है –

गर्भवर्ती होने के बाद महिला के वजन में निरंतर बढ़ोत्तरी होती है. यह एक सामान्य बात होती है. लेकिन सवाल ये होता है कि कितना वजन बढना चाहिएं. दरअसल, इसका कोई स्टीक जवाब नहीं हो सकता है क्योंकि इसका कोई फिक्स पैरामीटर नहीं है. इसका मुख्य कारण यह है कि यह महिला के शरीर की जरूरतों पर निर्भर करता है. यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि महिला का पहले वजन कितना है या फिर उसका खान-पान क्या है. इसके लिए कई कारण उत्तरदायी हो सकते हैं.

Copy

जब गर्भवती होने के बाद महिला का जितना वजन बढ़ता है, उसका बहुत थोड़ा हिस्सा ही फैट होता है. बाकी के वजन में बच्चे का वजन, प्लैसेंटा का वजन, अमीनीऐटिक फ्लूड (बच्चे के आसपास मौजूद पानी) का वजन, एक्सट्रा ब्लड का वजन और शरीर में होने वाले नैचरल वॉटर रिटेंशन का वजन होता है.

गर्भवती महिला
गर्भवती

गर्भवती महिला का वजन कितना होना चाहिएं –

Body mass index (BMI) के अनुसार अगर किसी महिला का वजन कम है, तो गर्भवती होने के बाद उसके वजन में 14-18 किलों तक की बढोत्तरी होनी चाहिएं. अगर सामान्य वजन के अंतर्गत आते हैं, तो वजन में 11 – 16 किलो की बढोत्तरी को अच्छा माना जाता है. अगर पहले से ही वजन अधिक है, तो गर्भवती होने के बाद उसके वजन में 7 – 11 किलो की बढ़ोत्तरी होनी उचित होती है.

अगर कोई महिला मोटापे की समस्या से पीड़ित है, तो ऐसे में गर्भवती होने के बाद उसके वजन में 5 – 9 किलों वजन बढ़ना ही काफी होता है. अगर वजन की बढ़ोत्तरी की बात करें, पहली तिमाही में 2 से 3 किलो तक वजन में बढोत्तरी होना सही होता है. इसके बाद प्रसव होने तक प्रत्येक सप्ताह 500 ग्राम वजन बढ़ता है, तो यह अच्छा माना जाता है और यह वजन बढ़ने की सामान्य अवस्था होती है.

यह भी पढ़ें : गर्भवती महिला को आयरन की कितनी गोलियां और कब खानी चाहिएं ?

इसके अलावा कुछ लोगों का मानना होता है कि गर्भवती होने के बाद महिला को अपना भोजन बढ़ा देना चाहिएं तथा उसे 2 लोगों के बराबर खाना खाना चाहिएं. इसके पीछे तर्क दिया जाता है कि एक बच्चा तथा एक वह उसको दोनों की पूर्ति करनी होती है. दरअसल, गर्भवती होने से पहले जितने भोजन का सेवन किया जाता था, उसमें 300 हेल्दी कैलरीज की वृद्धि करने से ही शऱीर को आवश्यक वजन बढ़ाने की जरूरत पूरी हो जाती है.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. News4social इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.