इतिहासब्रेस्ट टैक्स या स्तन ढ़कने के लिए लगाए जाने...

ब्रेस्ट टैक्स या स्तन ढ़कने के लिए लगाए जाने वाले टैक्स का भारत में इतिहास !

-

ब्रेस्ट टैक्स या स्तन ढ़कने के लिए लगाए जाने वाले टैक्स का भारत में इतिहास ! ( History of Breast Tax or Breast Cover Tax in India ! )  

वर्तमान समय में हम कई तरह के कर देखते हैं. प्राचीन भारत के इतिहास से ही हमें शासकों द्वारा लगाए जाने वाले करों की जानकारी मिलती है. अभी हम जो टैक्स देते हैं, वो देश के विकास में लगता है. लेकिन यदि आप इतिहास को देखेगें, तो आपको पता चलेगा कि कुछ अजीबोगरीब टैक्स भी भारत के इतिहास का एक हिस्सा रहे हैं. इस तरह के एक टैक्स की बात करें, तो क्या आपने कभी सोचा है कि भारत के इतिहास मे ब्रेस्ट टैक्स या स्तन ढ़कने के लिए भी टैक्स लगाया गया था. अगर आप इस टैक्स के इतिहास के बारे में नहीं जानते हैं तथा इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो इस पोस्ट में आपको भारतीय इतिहास के इस पहलू की जानकारी मिलेगी.

download 1 2 -

ब्रेस्ट टैक्स

ब्रेस्ट टैक्स या स्तन ढ़कने के लिए लगाए जाने वाला टैक्स-

यहां हम किसी विदेश के टैक्स की बात नहीं कर रहें हैं. भारत के इतिहास में ब्रेस्ट टैक्स लगाया जाता था. यह घटना केरल के त्रावणकोर राज्य की है. 19 वीं शताब्दी की बात करें, तो उस समय समाज में जाति व्यवस्था अपनी चरम सीमा पर थी. जिसके कारण उस समय के समाज में निचली जाति के माने जाने वाले लोगों से ब्रेस्ट टैक्स लिया जाता था. इसका अर्थ था कि निचली जाति की महिलाओं को अपने स्तन ढकने का अधिकार नहीं था. वो कमर से नीचे के वस्त्र ही पहन सकती थी. अगर कोई निचली जाति की महिला अपने स्तन ढकना चाहती तो उसके लिए उनको टैक्स देना पड़ता था. लेकिन यह टैक्स चुका पाना उनके लिए संभव नहीं होता था. इसके अलावा यह टैक्स स्तनों के आकार के हिसाब से लगाया जाता था.

images 8 -
ब्रेस्ट टैक्स

नंगेली ने किया विरोध-

उस समय लोगों में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वो इसका विरोध कर पाएं. लेकिन वहां पर एक महिला ने इसके खिलाफ हिम्मत दिखाई. जिसका नाम नंगेली था. उसने इस टैक्स का विरोध किया. जब नंगेली से ब्रेस्ट टैक्स लेने के लिए आएं, तो उसने अपना स्तन काटकर उनके सामने रख दिया. अधिक खून बहने के कारण उनकी मौत हो गई. लेकिन उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं गया.

Copy

यह भी पढ़ें: क्या मुगलों के आने से पहले राजस्थान में घूंघट प्रथा थी ?

नंगेली द्वारा इस तरीके से किए गए विरोध के कारण तथा स्तन काटकर सामने रखने की घटना के बाद यह बात बहुत फैल गई. जिसके बाद 1924 ईं. में इस टैक्स को हटा लिया गया.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.  

Kapil Jakhar
Kapil Jakharhttp://news4social.com/
Motivational Speaker , Comedian, Content writer , Anchor & Sayar

Latest news

Maharashra Politics: क्या फिर से साथ आएंगे उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे? विधायक से लेकर सांसद लगा रहे जोर

Maharashra Politics: क्या फिर से साथ आएंगे उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे? विधायक से लेकर सांसद...

रणवीर सिंह ने लजीज पकवान की जगह खाया जिंदा कीड़ा, फिर हो गया ऐसा हाल, आपने देखा वीडियो?

रणवीर सिंह ने लजीज पकवान की जगह खाया जिंदा कीड़ा, फिर हो गया ऐसा हाल, आपने...

बुवाई में बिलम्ब होने से दलहनों में 10 से 15 प्रतिशत तक भाव बढ़ने की संभावना | Due to the delay in sowing, the...

बुवाई में बिलम्ब होने से दलहनों में 10 से 15 प्रतिशत तक भाव बढ़ने की संभावना...

UP Top News : बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर उद्घाटन पूर्व हादसा, पुल से 40 फीट नीचे गिरी पेट्रोलिंग कार 4 जख्मी | UP Top News...

UP Top News : बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर उद्घाटन पूर्व हादसा, पुल से 40 फीट नीचे गिरी...

बॉक्‍स ऑफिस पर ‘थॉर: लव एंड थंडर’ की शानदार ओपनिंग, फुस्‍स हुई ‘रॉकेट्री’ और ‘राष्‍ट्र कवच: ओम’

बॉक्‍स ऑफिस पर 'थॉर: लव एंड थंडर' की शानदार ओपनिंग, फुस्‍स हुई 'रॉकेट्री' और 'राष्‍ट्र कवच:...

29 महीने बाद एक बार फिर सियासी वनवास पर गए नीतीश के ‘राम’, अब क्या करेंगे RCP?

29 महीने बाद एक बार फिर सियासी वनवास पर गए नीतीश के 'राम', अब क्या करेंगे...

Must read

You might also likeRELATED
Recommended to you