फर्रूखाबाद केस : आरोपी की पत्नी को लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

532
police
फर्रूखाबाद केस : आरोपी की पत्नी को लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

फर्रूखाबाद में जिस युवक ने 23 बच्चों को बंधक बना कर रखा था. उसकी पत्नी को स्थानीय लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला. आरोपी को पुलिस ने 11 घंटे ऑपरेशन चलाकर मार डाला था. लेकिन 23 बच्चों को पुलिस ने सुरक्षित बचा लिया. यूपी के फर्रूखाबाद में लोगों ने कानून को अपने हाथ में लेकर आरोपी की पत्नी को मार डाला, यहां पर मॉब लिंचिंग का अंदाजा आप साफ लगा सकते है.

इस मामले को लेकर कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि ”पुलिस के मुठभेड़ के वक्त महिला भागने का प्रयास किया, और जब उसके पति ने गोली चलाई तो आक्रोशित गांव द्वारा उसकी महिला को ईंट-पत्थर से मारा पीटा गया था. फिलहाल महिला को अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है. जोकि बहुत बुरी तरह से घायल थी और उसके सिर से खून निकल रहा था. अब यह पोस्टमार्टम से पता चलेगा कि उसकी मौत किन कारणों से हुई.”

बताते चले कि आरोपी शख्स की पहचान सुभाष बाथम के रूप में हुई थी. पूरा मामला फर्रुखाबाद जिले के मोहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के एक गांव का है. सुभाष ने गुरुवार को अपने बच्चे के जन्मदिन के बहाने आस-पास के बच्चों को घर में बुलाया और फिर अपनी बीवी और बच्चे समेत सभी बच्चों को बेसमेंट में बंद कर दिया था. यह आरोपी हत्या का दोषी है और हाल ही में पैरोल पर बाहर आया था.

imgpsh fullsize anim 54 -

जैसे ही बाथम के घर पर आयोजित बर्थडे पार्टी में बच्चे पहुंचे. सुभाष ने छत पर पहुंचकर बताया कि उसने बच्चों को बंधक बना लिया है. गांव वालों ने एक व्यक्ति को सुभाष से बात करने भेजा, जिसके बाद बदमाश ने उसके पैर में गोली मार दी. इसी बीच पुलिस को सूचना दी गई और सूचना अपनी टीम के साथ पहुंची पुलिस फोर्स ने सुभाष से बातचीत कर आरोपी पर फायरिंग करना शुरू कर दिया. जिसमें 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए.

इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तमाम आला अधिकारियों की बैठक बुलाई. डीजीपी और एसीएस होम को मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया. एटीएस की टीम मौके पर पहुंची, घर को घेरा गया. लोकल पुलिस के साथ एटीएस की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया. पुलिस ने कुछ लोगों के ज़रिए बातों में सुभाष को फंसाया और पीछे के दरवाजे से अंदर दाखिल हुई और ऑपरेशन में सुभाष मारा गया.

यह भी पढ़ें : जामिया के छात्र पर चली गोली, छात्र बुरी तरह ज़ख्मी

इस मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि आरोपी के पास इतना गोली बारूद था कि वो 2 दिन तक पुलिस से मुकाबला करता ऱहा 25-30 गोलियां, एक कंट्री मेड तमंचा, एक राइफल और बड़ी संख्या में बारूद था, कई सारे सुतली बम बना रखे थे और वो तहखाने में एक साथ सबको उड़ाने की धमकी भी दे रहा था. फिलहाल बच्चों को बचा लिया गया है वह सभी सुरक्षित है.