हरभजन सिंह को कोर्ट का समन, घर के दरवाजे पर चिपकाया गया नोटिस

0

क्रिकेटर हरभजन सिंह की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मानहानि के एक मामले में बांबे हाई कोर्ट ने उनके खिलाफ समन जारी किया है। उनका चंडीगढ़ के सेक्‍टर-9 में स्थित घर में किसी के न होने पर नोटिस को गेट पर चस्‍पा दिया गया। कोर्ट ने हरभजन और उनकी दोस्‍त पूजा सिंह व जतिंदर सिंह शाह को 12 जून को कोर्ट में पेश होकर अपना पक्ष रखने का आदेश दिया है। जेट एयरवेज के पूर्व पायलट और जर्मन नागरिक बर्न्‍ड हॉसलिन ने उनके खिलाफ 1.5 करोड़ डॉलर (1 अरब रुपया) के मानहानि का दावा ठोका है। ‘दैनिक जागरण’ के अनुसार, कोर्ट ने हिदायत दी है कि निर्धारित तिथि‍ पर कोर्ट में पेश न होने की स्थिति में तीनों के खिलाफ एकतरफा फैसला भी दिया जा सकता है। हॉसलिन ने 13 दिसंबर, 2017 को बांबे हाई कोर्ट में क्रिकेटर हरभजन सिंह के खिलाफ याचिका दायर की थी। उन्‍होंने कोर्ट से देरी होने पर दावे की रकम पर 18 फीसद ब्याज के साथ क्षतिपूर्ति की राशि देने का भी अनुरोध किया है। हॉसलिन का आरोप है कि हरभजन सिंह और अन्य ने सोशल मीडिया में उन पर नस्ली टिप्‍पणी करने का आरोप लगाया था। इससे उनके करियर पर प्रतिकूल असर पड़ा और उनके मान-सम्‍मान को ठेस पहुंचा है।

हॉसलिन ने कोर्ट से आग्रह किया है कि हरभजन और अन्‍य को तत्‍काल बिना किसी शर्त के सार्वजनिक रूप से माफी मांगने और उसे सोशल मीडिया पर शेयर करने का भी निर्देश दिया जाए। मालूम हो कि हरभजन और उनके साथियों ने अप्रैल 2017 में हॉसलिन पर अभद्र व्‍यवहार करने और महिला साथी के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया था। क्रिकेटर ने नस्‍ली टिप्‍पणी करने की भी बात कही थी। उन्‍होंने सोशल मीडिया पर भी इस घटना का जिक्र किया था। इसके बाद पायलट हॉसलिन को नौकरी से निकाल दिया गया था। हालांकि, उन्‍होंने कहा था कि वह बस ड्यूटी कर रहे थे। हॉसलिन को बाद में इन आरोपों से बरी भी कर दिया गया था। उनके वकील ने अपने मुवक्किल के खिलाफ लगाए आरोपों को गलत बताया है। हरभजन फिलहाल आईपीएल खेलने में व्‍यस्‍त हैं। वह T20 लीग के 11वें संस्‍करण में चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की ओर से खेल रहे हैं। हाई कोर्ट ने उन्‍हें जून में पेश होने का निर्देश दिया है। आईपीएल 27 मई को समाप्‍त हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − six =