जानिये क्यों वर्ल्ड कप में बेन स्टोक्स के पिता न्यूज़ीलैंड का समर्थन कर रहे थे?

0
https://news4social.com/?p=52427

विश्व कप फाइनल में रविवार को इंग्लैंड को मैच जिताने वाले बेन स्टोक्स मैन ऑफ द मैच बने, उन्होंने लगभग हारे हुए मैच को जिताया। लेकिन बहुत से लोग इस बात से वाकिफ नहीं हैं कि न्यूजीलैंड में जन्मे 28 वर्षीय और उनके माता-पिता न्यूज़ीलैंड में ही रहते हैं। यह सच है स्टोक्स के पिता ने कहा कि वह फाइनल में न्यूजीलैंड का समर्थन कर रहे थे।

स्टोक्स का जन्म 4 जून 1991 को न्यूजीलैंड में हुआ था और उन्होंने अपने जीवन के शुरूआती साल क्राइस्टचर्च में बिताए। स्टोक्स के पिता जेरार्ड के कुंभारिया में एक रग्बी लीग कोचिंग अनुबंध लेने के बाद स्टोक्स परिवार इंग्लैंड चला गया, उस समय ऑलराउंडर स्टोक्स 12 साल साल के थे।

बेन स्टोक्स अपने पिता के साथ

हालांकि स्टोक्स अब इंग्लैंड में बस गए हैं, उनके माता-पिता क्राइस्टचर्च में ही रहते हैं। स्टोक्स के माता पिता ने क्राइस्टचर्च में ही रहकर यह रोमांचक फाइनल देखा। लेकिन उनके बेटे ने उनके खिलाफ खेल गया। न्यूज़ीलैंड रग्बी लीग के पूर्व खिलाड़ी जेरार्ड ने कहा कि भले ही न्यूज़ीलैंड की हार हुई लेकिन उनकी मिली-जुली भावनाएं हैं। वो निराश है कि उनका देश हार गया और खुश इसलिए हैं कि उनके बेटे ने लॉर्ड्स में इंग्लैंड को अच्छा खेलकर जीत दिलाई।

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड के वर्ल्ड कप विजेता बनने पर ICC के नियमों की हो रही है आलोचना

जेरार्ड ने stuff.co.nz के साथ बातचीत में कहा, “मैं वास्तव में ब्लैक कैप्स के लिए निराश हूं; यह शर्म की बात है कि किसी को बिना ट्रॉफी के वापस आना पड़ा। मैं बेन और उनकी टीम के लिए बहुत खुश हूं, लेकिन मैं अभी भी न्यूजीलैंड का समर्थक हूं।”

गौरतलब है कि मैच के बाद स्टोक्स को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया। यह लगातार दूसरी बार था कि न्यूज़ीलैंड की टीम वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में पहुंची थी लेकिन मैच नहीं जीत पायी।