इन सूत्रों में बांधें जिन्दगी को, रहेंगे हमेशा खुश

0

दुनिया के किसी भी मुल्क कोई भी ऐसा बांशिंदा नहीं है जिसे मानसिक, आत्मिक और जैविक खुशी से मोहब्बत ना हो। हर कोई अपना दामन खुशियों के रंग से भरना चाहता है। मगर कई दफा उसे रास्त नहीं मिलता और भटकता रहता है। ऐसे में जरूरी है कि इंसान अपने जीवन को कुछ सिद्धांतों के फेरों को सातों जन्म बांधें और हमेशा खुशी के झूले में झूलता रहे।

1- फालतू की चीजों को कहे ना- वैसे तो व्यक्ति के मन मे आने वाले अनगिनत ख्यालों में से थोड़े-से ही काम के होते हैं और फालतू की चीजों की वजह से मानसिक दंश झेलते हैं। जैसे कि उम्र, लंबाई, वजन बढ़ना, कार्य का वक्त पर पूरा न होना आदि। बेकार की चीजों को पहचान कर उनसे तौबा कर लें।

2- हंसमुख लोग- हंसमुख लोग ही जीवन के मतलब का असली मजा उठा पाते हैं। कोशिश करें कि वक्त-वक्त पर अपने व्यवहार में हास्य की प्रवृत्ति को सृजित करें।

3- साधारण चीजें- जो मजा टी स्टॉल की पांच रूपये की चाय में है, वह फाइव स्टार होटल की पांच सौ रूपय की चाय में भी नहीं है। इसलिए हमेशा साधारण चीजों का आनन्द उठाने की कोशिश करें। इससे एक बेहतरीन जिन्दगी का निर्माण होगा।

4- सेहत का ख्याल- हर कोई जानता है कि सेहत का उचित ध्यान रखना चाहिए, लेकिन कितने लोग इसका ध्यान रखते हैं। यकीन मानिए सेहत से ज्यादा महत्वपूर्ण इस संसार में कोई दूसरी मोहब्बत नहीं है।

5- प्यार का इजहार- मानव जीवन की अरबों की आबादी में औसतन एक इंसान के दायरे में कम ही लोग उससे प्यार करने वाले होते हैं। वक्त और अच्छा मौका मिलने पर अपने प्यार का इजहार चहेते लोगों के लिए करें।

6- सुख-दुख- जीवन में सुख-दुख की माला तो कुदरत ही पिरोती है। इस इस सच हम अगर वास्तविक जिन्दगी के सूत्र में पिरो लेते हैं तो वाकई मानव जीवन का तरीका ही बदल जाएगा।

7- सीखने की चेष्टा- जो सीख रहा है वह प्रगति कर रहा है। चाहें आप कितने भी उम्र के क्यों न हों मगर सीखने की चेष्टा को अपनी जिन्दगी का सबसे अहम सिद्धांत बना लीजिए और यकीनन एक दिन आप कामयाबी की चोटी पर होंगे।

8- खूब आंसू बहाएं- आंसू बहाना प्रकृति की एक स्वाभाविक प्रक्रिया है और रोने से इंसानी दर्द और दुख कम हो जाता है।

9- सिद्धांत बनाएं- पूरा ब्रह्मांड, सृष्टि और समस्त दुनिया कुछ नियमों, सिद्धांतों और उसूलों से चलती है और इसलिए मानव को भी अपने निर्धारित जीवन कुछ सिद्धांत बनाने चाहिए जिससे उसका जीवन संतुलित तौर पर चलता रहे।

10- वक्त का पाबंद- अगर इस विश्व में कोई श्रेष्ठ कौशल है तो वह है वक्त का पाबंद। वक्त का पाबंद रहने वाला प्राणी हमेशा अपने लक्ष्यों को वक्त पर हासिल करता है। इसलिए वक्त का पाबंद की उपाधि हासिल जरूर कीजिए।

ये भी पढ़ें : सिद्धू का इस्तीफा मंजूर होने के बाद हुआ बड़ा खुलासा, मंत्रालय से गायब हुई फाइलें