अब अमेरिकी विदेश मंत्री ने भी लगाया ‘मोदी है तो मुमकिन है’ का नारा

0

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ इस महीने भारत के दौरे पर आने वाले हैं. इस दौरे के दौरान वे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाक़ात करेंगे. अपने भारत आगमन से पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री ने भाजपा के चुनाव प्रचार के लिए प्रचलित नारा “मोदी है तो मुमकिन है” दोहराया.

असल में यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के इंडिया आइडियाज़ समिट में भाषण देते हुए अमेरिकी विदेश मंत्री ने भारत से संबंधो के बाबत ये कहा कि, ‘जैसा प्रधानमंत्री मोदी ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान नारा दिया ‘मोदी है तो मुमकिन है’ या ‘मोदी मेक्स इट पॉसिबल’, मैं भी भारत और अमेरिका के बीच संबंध को आगे बढ़ते देख रहा हूं.’

मालूम हो कि पिछले दिनों अमेरिका ने भारत से विकाशसील देशो की सूची से हटा दिया था, ऐसे में अमेरिकी विदेश मंत्री का भारत आना काफी मायने रखता है. माइक पोम्पिओ ने अपने भारत दौरे के बारे में बात करते हुए कहा कि, “मैं इस महीने के अंत में नई दिल्ली की यात्रा, पीएम मोदी और उनके नए विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलने के लिए बहुत उत्सुक हूं’’

मालूम हो कि अमेरिकी विदेश मंत्री भारतीय प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री से मिलकर दोनों देशो के बीच एक सामरिक एजेंडे पर बात करेंगे. अपने भारत दौरे के बाद अमेरिकी विदेश मंत्री हिन्द प्रशांत के 3 और देशो का दौरा करेंगे. इनमे श्रीलंका, दक्षिण कोरिया और जापान शामिल है.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोर्गन ओर्तागस ने पोम्पिओ की एशिया यात्रा का उद्देश्य अमेरिका की महत्वपूर्ण देशो की साझेदारी को मज़बूत करना बताया है, ताकि निर्बाध हिन्द-प्रशांत के साझा लक्ष्य को पाने की दिशा में और आगे बढ़ा जा सके.