ट्रेन इंजन हुआ लीक, लोगों में डीजल को लूटने की लगी होड़

0
Karnataka Train Engine Leaks
Karnataka Train Engine Leaks

कर्नाटक के हावेरी जिले के ग्रामीणों में मंगलवार की सुबह बहुत व्यस्त रही। व्यस्तता का कारण था डीजल। दरअसल ट्रेन के इंजन से डीजल का रिसाव शुरू हो गया था। गांववालों में डीजल को भरने को लेकर लूट मच गयी। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं।

यह घटना हावेरी जिले के येल्विगी गांव के पास तब सामने आई जब हुबली-बेंगलुरु पैसेंजर ट्रेन के इंजन लीक होने के बाद लोकोमोटिव पायलट ने ट्रेन को रोका और हुबली मुख्यालय से मदद के लिए बुलाया।

हुबली से ट्रेन के लिए एक वैकल्पिक इंजन भेजा जा रहा था और साथ ही रिसाव को ठीक करने के लिए तकनीशियनों की टीम घटना स्थल पर पहुंच रही थी। जैसे ट्रेन के इंजन से डीजल के रिसाव की सुचना वहाँ के ग्रामीणों को हुई सभी अपने अपने घर से बर्तन लाकर डीजल को भरना शुरू कर दिया। कई लोगो ने तो पानी की टंकियों को ही डीजल भरने के लिए खाली कर दिया और उसे डीजल से भर दिया।

हुबली में दक्षिण पश्चिम रेलवे (SWR) के अधिकारियों ने कहा कि जांच में रिसाव का पता चला है। जैसे ही इंजन रिसाव की सूचना मिली हुबली से एक अतिरिक्त लोकोमोटिव इंजन भेजा गया ताकि ट्रेन आगे की यात्रा शुरू कर सके। अधिकारियों ने कहा कि उहे इंजन से डीजल इकट्ठा करने वाले लोगों के बारे में रिपोर्ट मिली है।

यह भी पढ़ें- हैदराबाद रेप केस: स्वाति मालीवाल ने रोष में लिखी PM मोदी को चिट्ठी

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के एक अधिकारी ने कहा कि रेलवे इंजन से डीजल चोरी करने वाले लोगों पर मामले दर्ज किए जा सकते हैं। अधिकारी ने कहा, “जब हम मौके पर पहुँचे तो वहाँ कोई नहीं था। ज्यादातर डीजल चुराया जा चुका है। कुछ वीडियो और तस्वीरें उपलब्ध हैं और अगर जाँच समिति सिफारिश करती है, तो हम मामले दर्ज करेंगे। रेलवे इंजन के डीजल टैंक की क्षमता 5,000 लीटर है।”