संजीवनी जड़ी बूटी जैसी कौन सी जड़ी बूटी है उसका नाम ग्रंथ में आता है आयुर्वेद के हिसाब से ?

0
960
संजीवनी बूटी
संजीवनी बूटी

संजीवनी जड़ी बूटी जैसी कौन सी जड़ी बूटी है उसका नाम ग्रंथ में आता है आयुर्वेद के हिसाब से ? ( Which herb is like Sanjeevani booties, according to Ayurveda )

भारत में पुराने समय से ही आयुर्वेदिक जड़ी बूटी से इलाज का महत्व रहा है. रामायण के समय आपने एक घटना सुनी होगी. जब भगवान राम के छोटे भाई लक्ष्मण मूर्छित हो जाते हैं. उस समय उनको ठीक करने के लिए हनुमान जी हिमालय के पर्वतों से संजीवनी बूटी लेकर जाते हैं. जिसके बाद लक्ष्मण जी ठीक हो जाते हैं. इस तरह जड़ी बूटी से इलाज करना आयुर्वेद की श्रेणी में आता है.

h 1492773058 -
हनुमान

क्या होती है संजीवनी जड़ी बूटी ?

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार संजीवनी बूटी का अपना विशेष महत्व है. ऐसा माना जाता है कि यह बूटी बहुत ही चमत्कारिक होती है. इसके प्रयोग से मृत व्यक्ति को भी जिंदा किया जा सकता है. लक्ष्मण के मूर्छित होने पर इसी बूटी का प्रयोग कर उसे ठीक किया गया था. इसके साथ ही इस चमत्कारिक बूटी के बारे में बताया जाता है कि यह रात के समय में चमकती है. संजीवनी बूटी का ग्रंथों में भी काफी बार प्रय़ोग हुआ है. वाल्मिकी की रामायण में एक जगह बताया गया है कि लंका के वैद्य ने हनुमान जी से कहा था – हिमालय पर कैलाश और ऋषभ पर्वत के बीच एक ऐसा पर्वत है जिस पर जीवन देने वाली बूटियां पाई जाती हैं.

download 1 8 -
संजीवनी ज़ड़ी बूटी

संजीवनी जड़ी बूटी का नाम ?

हिंदू पौराणिक कथाओं में चर्चित संजीवनी बूटी के नाम की बात करें, तो वैज्ञानिक साहित्य की सूची में कहीं-कहीं संजीवनी का उल्लेख सेलाजिनेला ब्रायोप्टेरिस ( selaginella bryopteris ) के रूप में किया गया है. इसे आम भाषा में लिथोफाइट्स पेरिडीडोफाइटिक पौधे के नाम से भी जाना जाता है.

यह भी पढ़ें: आयुर्वेद के अनुसार रोना अच्छा या बुरा ?

इस बूटी में अनेंक औषधिय गुण विद्यमान होते हैं. जिसके बारे में बताया जाता है कि मृत व्यक्ति को भी जिंदा करने के गुण इसमें विद्यमान हैं. संजीवनी बूटी को लेकर विज्ञान में अभी भी खोज की जा रही है.

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुक , ट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindi , sports hindi news , Bollywood Hindi News , technology and education etc.

Copy