सवाल-17; अगर पुलिस FIR दर्ज़ करने से मना करें तो क्या करना चाहिए?

0
https://news4social.com/?p=49907

भारत जैसे विशाल देश में अक्सर हिंसक घटनाएं देखने को मिलती रहती है। वहीं इन घटनाओं पर लगाम लगाना कभी कभी पुलिस वालों के लिए भी मुश्किल हो जाता है। लेकिंग कभी कभी सुनने में आता है कि किसी महिला के साथ ज्यादती हुई और वह थाने गयी तो पुलिस वालों ने FIR लिखने से मना कर दिया। किसी के साथ अपराध हो और और FIR दर्ज ना करा सके तो यह हमारे देश के संविधान के खिलाफ है। FIR दर्ज करवाना एक मौलिक अधिकार होता है।

FIR न लिखने का पुलिस वालों का कारण चाहे कुछ भी हो लेकिन यह उनकी मौलिक जिम्मेदारी बनती है कि वह पीड़ित की बात सुने और उसकी शिकायत दर्ज करें। क्योकि जनता की सेवा और सुरक्षा परोक्ष रुप से पुलिस महकमे पर ही होता है। लेकिन जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो उनके खिलाफ शिकायत कहाँ करें। आइये हम आज इसी बारे में जानते है कि अगर पुलिस आपकी बात न सुने तो आप पुलिस की शिकायत अर्थात FIR कहाँ दर्ज करा सकते हैं।

सबसे पहले तो यह पता कर लेना चाहिए कि पुलिस FIR दर्ज करने से क्यों मना कर रही है? भारतीय कानून के अनुसार अपराधों को 2 तरीकों से बांटा गया है। पहला है संगेय अपराध और दूसरा गैर संगेय। लेकिन गैर संगेय अपराधों के मामले में पुलिस अधिकारी को मजिस्ट्रेट द्वारा निर्देशित किया जाता है कि वह विशेष कार्यवाही करें। गैर संज्ञेय अपराध में पुलिस के पास बिना वारंट किसी को गिरफ्तार करने की अधिकार नहीं है।

पुलिस FIR दर्ज ना करे तो हमें क्या करना चाहिए। आपको बता दें अगर पुलिस अधिकारी आपके FIR लिखने से इंकार कर रहे हैं तो आप को वरिष्ठ अधिकारी के पास जाकर लिखित शिकायत दर्ज करवाना चाहिए। इसके बाद भी FIR दर्ज ना होता है तो आप मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदालत का दरवाजा खटखटा सकते हो।

यह भी पढ़ें: बैंक से फ्रॉड करने के मामलें में ED ने जब्त की कम्पनी की 6000 गाड़ियां

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के पास यह अधिकार है कि वह FIR दर्ज करने के लिए पुलिस को आदेश दे सके। सुप्रीम कोर्ट ने FIR दर्ज ना करने वाले पुलिस ऑफिसर के खिलाफ कार्रवाई करने की आदेश भी दिए हैं। दरअसल पुलिस को FIR दर्ज करने के एक सप्ताह के अंदर जांच शुरू करनी होती है। इसीलिए कोई पुलिस अधिकारी किसी की FIR यह कहकर नहीं दर्ज करता है तो उसे मामलें पर संदेह तो यह गलत है क्योकि वह बिना जांच किये हुए कोई किसी भी मामलें पर अपनी राय नहीं दे सकता है।

उम्मीद करता हूँ कि हमारे द्वारा दिया गया जवाब आपको पसंद आया होगा | आप लोग ऐसे ही हमसे सवाल पूछते रहिए हम उनका जवाब खोज कर आप को देते रहेंगे। आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे अपने सवाल पूछ सकते है | सवाल पुछने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।