सवाल 11- क्या होता है QR Code? यह कैसे करता है काम?

0
https://news4social.com/?p=49726

आजकल ज़माने में QR Code शब्द सुनना आम हो गया है। हम कहीं भी इसे किसी दुकान के सामने टंगा हुआ देख सकते है। यह पेटीएम जैसे पेमेंट एप्प के प्रचलन के बाद लोगों की निगाहों में आया। आइये जानते हैं कि क्या होता है QR Code और यह काम कैसे करता है?

QR Code का फुल फॉर्म Quick Response Code है। इसका इस्तेमाल डाटा को डिजिटल फॉर्म में स्टोर करने के लिए किया जाता है जिसे हम साधारण रूप से नहीं पढ़ सकते लेकिन Code Scanner या फिर Smartphone की मदद से सभी डिटेल्स को एक्सेस कर सकते है।

Loading...

अगर QR Code के पहली बार इस्तेमाल की बात की जाए तो 1994 में जापान में इसका इस्तेमाल किया गया। इसका श्रेय Denso Wave को जाता है जो की पहले अपनी कम्पनी के पार्ट्स को स्टोर करने के लिए इसका प्रयोग करते थे लेकिन बाद में उन्होंने इस तकनीक को सभी के साथ साझा किया।

QR Code में कन्वर्ट हुआ डाटा Machine Redable Form में होता है जिसे कंप्यूटर बेहद ही आसानी से समझ पाता है और एक्सेस करता है जबकि साधारण डाटा जो की text फॉर्म में होता है उसे कोई भी मशीन इतनी आसानी से नहीं समझ पाती।

QR Code दिखने में Square Shape में होते है जिसमे काफी डिटेल्स स्टोर की जा सकती है या फिर आप किसी भी URL को इन कोड्स में बदल सकते है।
QR Code का इस्तेमाल आज के समय में सीमित जगहों पर नहीं है बल्कि इसकी मदद से प्रोडक्ट ट्रैक करना, Identify करना, सोशल मीडिया पर डाटा शेयर करना जैसे कई काम आसानी से किये जा सकते है।

QR Code की सहायता से किसी दूसरे को लम्बा चौड़ा लिंक बताने की जगह यह Code Scan करवा सकते है। जिससे यूजर आपके वेबसाइट पर आसानी से पहुंच जायेगा। इस कोड से आपकी वेबसाइट, विडियो, पेज या अन्य लिंक तक ही सीमित नहीं बल्कि यह आप अपना फोन नम्बर, मेसेज, डिस्काउंट कूपन, Map Location भी QR Code की फॉर्म में स्टोर कर सकते है।

यह भी पढ़ें: सवाल 8- क्या कारण था कि राजा-महाराजा एक से अधिक शादियाँ करते थे?

QR Code का इस्तेमाल आजकल ज्यादा पेमेंट एप्प पर ज्यादा किया जाता है। इनमे से मुख्य हैं: पेटीएम, फ़ोन पे, गूगल पे आदि। QR Code बार कोड की तुलना में ज्यादा सक्रीय और सुरक्षित होता है। जैसा कि देखा गया है कि हर एक चीज़ के दो पहलू होते हैं। जोकि एक बुरा होता है और एक अच्छा। ठीक उसी प्रकार QR Code के भी कुछ नुकसान है। इनमें कभी कभी एन्क्रिप्टेड डाटा की वजह से यूजर अनचाही साइटों पर पहुंच जाता है।

उम्मीद करता हूँ कि हमारे द्वारा दिया गया जवाब आपको पसंद आया होगा | आप लोग ऐसे ही हमसे सवाल पूछते रहिए हम उनका जवाब खोज कर आप को देते रहेंगे। आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे अपने सवाल पूछ सकते है | सवाल पुछने के लिए आप का बहुत बहुत धन्यवाद।