परशुराम द्वारा कर्ण को श्राप देने के पीछे का रहस्य ?

0
941
परशुराम
परशुराम

भगवान परशुराम के बारे में तो आपने सुना ही होगा. ऐसा बताया जाता है कि उन्होंने 20 से अधिक बार इस धरती से पूरी तरह से क्षत्रियों को खत्म कर दिया था. महाभारत में एक बार वर्णन मिलता है कि परशुराम ने कर्ण को श्राप दिया था. जिसका परिणाम कर्ण को युद्ध भूमि में भुगतना पड़ा था. परशुराम ने क्या श्राप दिया था ? उसका परिणाम क्या हुआ ? इन सभी सवालों का जवाब ढूंढते हैं.           

आप ये तो जान गए होगें कि परशुराम जी का क्षत्रियों के प्रति शत्रुता का व्यवहार था. वो शस्त्र विद्या के बहुत ही अच्छे जानकार थे. लेकिन वो सिर्फ ब्राह्मण के पुत्रों को ही शिक्षा देते थे. क्षत्रियों को उनके द्वारा शिक्षा नहीं दी जाती थी. ऐसा माना जाता है कि कर्ण उनके पास शिक्षा लेने के लिए जाते हैं. लेकिन परशुराम को यह नहीं पता होता कि कर्ण एक क्षत्रिय कुल से संबंध रखता है, क्योंकि कर्ण के जन्म के समय उसको उसकी माता कुंति ने नदी में बहा दिया था और एक ब्राह्मण ने उसको पाला था.

images 3 1 -
परशुराम

परशुराम जब कर्ण को पूरी शिक्षा दे देतें हैं. तो एक दिन उनकों पता चलता है कि कर्ण क्षत्रिय कुल से संबंध रखता है. इस बात को लेकर परशुराम को बहुत गुस्सा आता है. उनको लगता है कि कर्ण ने जानबुझकर उनसे शिक्षा लेने की लिए झुठ बोला की वह क्षत्रिय नहीं है. इस कारण परशुराम ने कर्ण को श्राप दिया कि जब भी तुझे मेरी शिक्षाओं की सबसे ज्यादा जरूरत होगी. तु मेरी शिक्षाओं को भूल जाएगा.

download 1 4 -
कर्ण

परशुराम द्वारा कर्ण को दिए गए इस श्राप के कारण ही जब युद्ध भूमि में कर्ण और अर्जुन का युद्ध चल रहा था, तो एक समय ऐसा आता है जब कर्ण के रथ का पहिया जमीनें में धंस जाता है. जिसके बाद अर्जुन जब कर्ण पर वार करता है, तो परशुराम के द्वारा दिए गए श्राप के कारण कर्ण को उन शिक्षाओं को कोई लाभ नहीं मिल पाता है. जिसके कारण उस दिन युद्ध भूमि में अर्जुन द्वारा कर्ण को मार दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: भारतीय इतिहास में दूसरा परशुराम कौन थे ?

कर्ण और अर्जुन के युद्ध में कर्ण के हारने का सबसे बड़ा कारण परशुराम द्वारा दिया हुआ श्राप ही बताया जाता है क्योंकि इसके कारण कर्ण अपनी शस्त्र विदया का सही समय पर प्रयोग नहीं कर पाया.

Copy