उत्तर प्रदेश – परीक्षा की एक अजब रिवायत ,पढ़ने के अलावा बच्चे अपना रहे है पास होने के सारे हथकंडे

1

उत्तर प्रदेश – परीक्षाओं में होने वाले नक़ल का सिलसिला यूँ तो आम नहीं है ,खास तौर पर उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों में ये कोई नयी बात नहीं है |लेकिन ,हाल ही में हुए यूपी परीक्षाओं में छात्रों ने बिना नक़ल किये अंक पाने के कई नायाब और अतरंगे तरकीबे सोची है |फरवरी और मार्च में परीक्षा खत्म होने के बाद ,जब अध्यापक परीक्षा पत्रों की जांच कर रहे है ,इनमें बच्चों द्वारा कई तरह की अनोखी मिन्नते अध्यापकों तक पहुच रही है | जी हाँ ,चेकिंग के दौरान अध्यापकों को बच्चों के परीक्षा पत्रों में सही उत्तर के सिवाय शायरी ,चुटकुले ,गानों से लेकर 10 -20 ,100 से 500 तक के नोट रखें हुए थे |कई छात्रों ने तो अपनी “answer sheet ” पर प्यार के अफ़साने और पापा से पीटने का डर का ज़िक्र भी था |

कहीं इश्क की परिभाषा

यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा में जब परीक्षा पत्रों की जांच शुरू हुई तब एक छात्र ने अपनी केमिस्ट्री की उत्तर पुस्तिका में इश्क की परिभाषा लिखी है और ये बताया है कि वह किसी पूजा से कितना प्रेम करते है |

कहीं पैसों की रिश्वत
वहीँ एक विद्यार्थी ने answer sheet में कुछ पैसे चिपका कर अध्यापक से पास करने की विनती की है |छात्रों के ये अलबत तरीके परीक्षा में उत्तीर्ण अंक पाने के लिए वाकई अद्भुत है |

 

कहीं ब्लैकमैलिंग तोह कहीं इमोशनल अत्याचार
जहाँ कोई अपनी प्रेम कहानी सुनाके और कोई टीचर को इमोशनल ब्लैकमेल करके मार्क्स की गुहार लगा रहा है|एक छत्र ने उत्तर पुस्तिका में लिखा कि “मेरी माँ नहीं है और अगर में पास नहीं हुआ तो मेरे पिताजी मुझे  बहुत मारेंगे ,कृपया मुझे पास कर दीजिये |

वहीँ एक आसंर शीट में छात्र ने लिखा है, चिट्ठी तू जा सर के पास, सर की मर्जी पास करें या फेल |

यह भी पढ़ें: बिहार के 12 वीं के नतीजे में एक बार फिर सामने आया बड़ा घोटाला

सोशल मीडिया पर ये खबर इन तस्वीरों के साथ खूब शेयर की जा रही है 

शिक्षा व्यवस्था फिर कटघरे में ,

इस तरह की घटनाए देखना आम बात नहीं है ,अध्यापकों को और हमें जितना इन उत्तर पत्रिकाओं को पढ़ कर हंसी आती है ,उससे कहीं ज्यादा दुःख होता है देश की शिक्षा व्यवस्था को देख के और अपने देश के भविष्य को इस तरह अँधेरे में जाता हुआ देख के |

स्कूलों के जिला निरक्षक मुनेश कुमार ने इस मामले पर कहा की ,हमें चेकिंग के दौरान इस तरह की वीडियोज़ देखने को मिली ,लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमारे शिक्षक इनके बदले इन छात्रों को अच्छे अंक देंगे |छात्रों की परीक्षा के दौरान इस प्रकार की हरकते बहुत खराब ,शर्मनाक है |

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − thirteen =