पाक के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की हुई गिरफ्तारी, समर्थकों ने जताया विरोध

0
https://news4social.com/?p=48969

पाकिस्तान में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के समर्थकों ने फर्जी खातों के मामले में पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की गिरफ्तारी के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

सोमवार को NAB ने फर्जी बैंक खातों मामले में जरदारी को इस्लामाबाद से गिरफ्तार किया। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय की एक पीठ, जिसमें जस्टिस अमीर फारूक और मोशीन अख्तर कयानी शामिल थे, ने जरदारी और उनकी बहन, फरील तालपुर द्वारा दायर एक याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें फर्जी बैंक खातों के मामलें में उनकी अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाने की मांग थी। याचिका ख़ारिज होने के बाद जरदारी को गिरफ्तार कर लिया गया था।

पार्टी नेता की गिरफ्तारी के बाद पीपीपी कार्यकर्ता ‘काला दिवस’ मना रहें हैं। स्थिति को देखते हुए सिंध और रेंजर्स में सुरक्षा अलर्ट जारी कर दिया गया। कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए पुलिस कर्मियों ने गश्त शुरू कर दी है।

बाजौर में प्रदर्शनकारियों ने प्रेस क्लब के सामने धरना दिया। टांडो मोहम्मद खान में प्रदर्शनकारियों ने बाहर आकर टायरों में आग लगा दी जबकि घरो से एक रैली निकाली गई। बादिन और मीरपुर खास में भी विरोध प्रदर्शन हुए। बहावलपुर के चक मदरसा में भी महिला प्रदर्शनकारियों ने विरोध प्रदर्शन किया। राजनपुर, हैदराबाद, खैरपुर, मीरपुर आजाद कश्मीर और सहवान में पीपीपी नेता की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन हुए।

यह भी पढ़ें: कार और टू व्हीलर गाड़ियों का बीमा कराना हुआ महंगा, इस दिन से लागू होंगी नई दरें

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) की एक टीम, जिसमें महिला अधिकारी भी शामिल हैं, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय द्वारा उनकी जमानत याचिका खारिज किए जाने के कुछ घंटों बाद पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सह अध्यक्ष जरदारी के घर में दाखिल हुई। हालांकि, उनकी बहन फरयाल तालपुर को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया था। भाई-बहन की जोड़ी के पास अब पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में आदेश की अपील करने का विकल्प है।