महिला एंकर के साथ भीड़ में छेड़-छाड़ करने का मामला सामने आया

0

हम 21वीं सदी के मॉडर्न युग में जी रहे हैं मगर अब तक मॉडर्न होने के पैमाने तय नही कर पाए हैं. नए साल के जश्न की रिपोर्टिंग कर रही एक महिला रिपोर्टर के साथ मॉलस्टेशन की घटना सामने आई है. खबर मीडिया में आते ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. लेकिन सवाल ये है कि हालात कब बदलेंगे और उन्हें कौन बदलेगा? वो भ्हेद जो शिकार करती है या वो भीड़ जो तमाशा देखती है.

ABP न्यूज़ की एंकर के साथ हुई शर्मनाक हरकत

शिमला में नए साल के जश्न की लाइव रिपोर्टिंग कर रही एबीपी न्यूज़ की रिपोर्टर निधि श्री के साथ एक लड़के ने अश्लील हरकत की. निधि श्री ने अपने साथ हुई घटना का हैरान कर देने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया है. इस विडियो के साथ निधि ने लिखा कि “हमने top angle view लिया क्योंकि वहाँ भीड़ कम थी और शूट भी बेहतर हो सकता था.पर मीडिया और कैमरा देखकर धीरे धीरे वहाँ भी लोग इकट्ठा होने लगे थे.लाइव से पहले वाक्थ्रू के वक़्त किसी नशे में धुत्त इंसान (ये मैं consider कर रही हूँ) ने मुझे पीछे से छूने की कोशिश की थी तब मैंने चेतावनी देकर शूट की जगह बदल दिया था. ख़ैर 11 बजे हम लाइव पर थे,और मेरे सहयोगी @pravin dixit ने कैमरा पैन किया.तभी मुझे किसी ने बैक पर मारा((आप स्पैंक करना समझते हैं???)) मैं कुछ सेकेंड्स के लिए ब्लैंक हो गयी.मैंने लाइव के दौरान ही उस लड़के को थप्पड़ मारा.लड़के ने भी पलट कर मेरे सिर पर मारा और भाग गया.ख़ैर किसी तरह मैंने लाइव ख़त्म किया…पर उस वक़्त जो मैं महसूस कर रही थी वो बहुत बुरा था..बहुत ज़्यादा!! इस तरह की घटना कोई नई नहीं है.अगर ड्यूटी पर नहीं होती तो शायद ये सुनने मिलता कि भीड़भाड़ वाली जगह पर मुझे जाना ही नहीं चाहिए था. आपका लड़की होना अगर आपके लिये मज़बूती है तो कईयों के लिए महज़ एक कमज़ोरी!!”

न्यूज़ 24 की महिला एंकर आई समर्थन में

इसी खबर को शेयर करते हुए हिंदी न्यूज़ चैनल न्यूज़ 24 की एक महिला एंकर ने भी अपने साथ हुए ऐसे ही एक हादसे की खौफनाक दास्तान सोशल मीडिया में साझा की है. साक्षी जोशी नाम की इस महिला पत्रकार ने बताया है कि किस तरह से उन्हें भी भीड़ में छेड़छाड़ का शिकार होना पड़ा था. अपनी दास्तान बयां करते हुए साक्षी जोशी ने लिखा है कि नए साल पुराने हो जाएंगे लेकिन ऐसे लड़कों की मानसिकता कब बदलेगी ये कह पाना बहुत मुश्किल है.

साक्षी के साथ भी हुई ऐसी घटना

निधि श्री की इसी पोस्ट को शेयर करते हुए साक्षी जोशी ने अपने पेसबुक वॉल पर लिखा है. उन्होंने लिखा है, “मैं इंडिया टीवी में थी. 2009 में अज़हरुद्दीन का नॉमिनेशन फ़ाइल होना था इसलिए मोरादाबाद गई थी. वहाँ कोर्ट परिसर में एक कथित वक़ील ने ही मेरे साथ बिलकुल यही हरकत की थी. मैं तब अज़हर का इंटरव्यू कर रही थी, और सिर्फ़ भीड़ से घिरी हुई थी. जैसे ही मेरा काम पूरा हुआ उस शख़्स को घुमाकर एक थप्पड़ रसीदा. वापस दफ़्तर आई तो पता चला मोरादाबाद में वकीलों ने मेरे नाम का जुलूस निकाला.

एक बॉस Vinod Kapri थे जिन्होंने मेरा साथ दिया जबकि दूसरे एक कथित सीनियर मेरे ही ख़िलाफ़ खड़े हो गए और मुझसे वीडियो सबूत तक माँगा गया.

निधि ने अपना काम जारी रखा ये क़ाबिले तारीफ़ है और वीडियो सबूत भी है पर उस लड़के के ख़िलाफ़ न कुछ होगा. न ये सब हरकतें बदलेंगी. 2009 का मुरादाबाद 2018 के शिमला तक फैला हुआ है. नए साल पुराने हो जाएँगे पर ऐसे लड़कों की मानसिकता कब बदलेगी,.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 1 =