सऊदी अरब की महिलाओं को मिली यह छूट, आधी आबादी हुई खुश

0
Saudi Arab Woman
Saudi Woman

सऊदी अरब की महिलाओं के लिए 21 अगस्त 2019 का दिन बेहद खास है। सऊदी अरब में महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबन्ध लगाए गए हैं। इस बीच वहाँ की सरकार ने उनपर से कुछ प्रतिबंध हटाए हैं। आइये जानते हैं क्या है वो नियम-

दरअसल अब सऊदी की महिलाएं किसी संरक्षक की अनुमति के बिना विदेश यात्राओं पर जा पाएंगी। इससे पहले सऊदी महिलाओं को नाबालिग समझा जाता था। उन्हें हमेशा सरंक्षकों यानी पति, पिता और अन्‍य पुरुष संबंधियों द्वारा इजाजत लेनी पड़ती थी।

इस नियम के मुताबिक अब 21 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को पासपोर्ट हासिल करने और अभिभावक की सहमति हासिल किए बिना देश छोड़ने की इजाजत होगी। पुराने कानून के तहत सऊदी अरब में किसी भी उम्र की महिला बिना किसी पुरुष संरक्षक की इजाजत से विदेश यात्रा पर नहीं जा सकती थी। इसके अलावा सऊदी में 21 साल के पुरुष भी बिना संरक्षक के विदेश यात्रा पर नहीं जा सकते थे।

सऊदी सरकार ने महिलाओं के हक में यह सुधारात्‍मक कदम उठाया है। एक अगस्‍त को सऊदी अरब सरकार ने कहा था कि महिलाओं को किसी संरक्षक की इजाजत के बिना विदेश यात्रा पर जाने की अनुमति होगी। इस घोषणा के 20 दिन बाद 21 अगस्‍त को यह नियम अमल में लाया गया। पिछले कुछ सालों में सऊदी में महिलाओं के लिए सुधारात्मक बदलाव किये गए हैं।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी शख्स खेलता था हवस भरा खेल, पत्नी वीडियो बनाकर करती थी ऐसा काम

वर्ष 2017 में सऊदी महिलाओं को पासपोर्ट दिए जाने के सारे बंधन हटा दिए गए। उन्‍हें स्‍वतंत्र पासपोर्ट दिया जाने लगा। उसके बाद वहां महिलाओं को टैक्सी चलाने की इजाजत भी दे दी गयी।

वर्ष 2018 में महिलाओं को स्‍टेडियम में प्रवेश की अनुमति हासिल हुई। इसी वर्ष महिलाओं को सेना में भर्ती की अनुमति प्रदान की गई। इसके साथ उन्‍हें स्‍वतंत्र कारोबार की इजाजत भी मिली। दिसंबर 2015 में महिलाओं को वोट डालने का अधिकार हासिल हुआ। इसके पूर्व उनको इस अधिकार से वंचित रखा गया था।