हैदराबाद रेप केस: चारों आरोपियों को पुलिस ने मारी गोली, एनकाउंटर पर उठे सवाल

0
gang rape
हैदराबाद रेप केस: चारों आरोपियों को पुलिस ने मारी गोली, एनकाउंटर पर उठे सवाल

डॉक्टर दिशा के साथ दरिंदगी के आरोपियों को लेकर पुलिस मौका- ए- वारदात पर पहुंची मौके से आरोपियों ने पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश की. भाग रहे आरोपियों को पुलिस ने मार गिराया.

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस में चारों आरोपियों का शुक्रवार सुबह 3 से 6 बजे के बीच एनकाउंटर कर दिया गया है. पुलिस का दावा है कि आरोपियों ने क्राइम सीन रिक्रिएट के दौरान हमला कर दिया और हथियार छीनकर भागने की कोशिश करने लगे. इस दौरान पुलिस ने आरोपियों को मार गिराया.

जैसे ही पुलिस ने हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस के आरोपियों को मार गिराया गया है. इस एनकाउंटर पर सवाल उठने लगे हैं. वंचित बहुजन अघाड़ी के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने हैदराबाद पुलिस के खिलाफ जांच की मांग की.

उन्होंने कहां है कि ‘सभी आरोपी थे, न कि दोषी. एक ऐसी ही घटना छत्तीसगढ़ में भी हुई थी, जहां पर 36 लोगों को नक्सली बताकर मार दिया गया था, जबकि वे नक्सली नहीं थे. प्रकाश आंबेडकर ने इसके लिए राजनेताओं को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि राजनीतिक प्रमुख गलत आदेश दी हैं. वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने तेलंगाना पुलिस की तारीफ की है.

अब हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस में चारों आरोपियों के साथ हुए एनकाउंटर पर सवाल उठने लगे हैं. सुप्रीम कोर्ट की वकील वृंदा ग्रोवर ने पुलिस पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की. सुप्रीम कोर्ट की वकील ने यह कहा है कि पुलिस पर मुकदमा दर्ज होना चाहिए और पूरे मामले की स्वतंत्र न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए. महिला के नाम में कोई भी पुलिस एनकाउंटर करना गलत है. अगर सवाल गलत का है तो फिर देश की जनता यह सवाल पूछती है कि जो लड़की के साथ किया गया था वह क्या सही था.

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने यह कहा है कि ‘एनकाउंटर हमेशा ठीक नहीं होते हैं. इस मामले में पुलिस के दावे के मुताबिक आरोपी बंदूक छीन कर भाग रहे थे. ऐसे में शायद उनका फैसला ठीक है. उनका कहना है कि हमारी यह मांगे थी कि आरोपियों को फांसी की सजा मिले, लेकिन कानूनी प्रक्रिया के तहत. हम चाहते थे कि स्पीडी जस्टिस हो. पूरी कानूनी प्रक्रिया के तहत ही कार्रवाई की जानी चाहिए.

बीजेपी के नेता कपिल मिश्रा ने कहा, ‘धन्यवाद हैदराबाद पुलिस, यह बलात्कारियों से निपटने का तरीका है. आशा है अन्य राज्यों की पुलिस आपसे सीख लेगी.’

एआर्ईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी एनकाउंटर को लेकर खुलकर कहा, भले ही उन्होंने कोई सवाल नहीं उठाए है, लेकिन दबी जुबान से ही जांच की मांग कर डाली. ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला दिया और कहा कि प्रत्येक एनकाउंटर की जांच होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें : उन्नाव रेप पीड़िता को केरोसिन छिड़क जिंदा जलाया, सुनवाई के लिए जा रही थी कोर्ट

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस में चारों आरोपियों को एनकाउंटर होने पर डॉक्टर दिशा के माता पिता ने प्रसन्नता व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि मेरी बेटी की मौत के 10 दिन के अंदर आरोपियों को मार दिया गया. साथ ही यह भी कहा कि मैं तेलंगाना सरकार पुलिस और मेरे साथ खड़ें सभी लागे को धन्यवाद करता हूं और बधाई देता हूं कि मेरी बच्ची की आत्मा को शांति मिल गई है. दिशा के चाचा ने एनकाउंटर पर नाखुशी जाहिर करते हुए न्याय प्रणाली पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा था कि एनकाउंटर से दिशा को न्याय मिल गया, लेकिन हम इससे खुश नहीं हैं.