उत्तराखंड में चारधाम सहित ऊंची चोटियों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, ये है आलम

0

उत्तराखंड में जिसे देव भूमी कहा जाता है फिलहाल उत्तराखंड में बारिश और बर्फवारी का दौर जारी है. चारधाम सहित ऊंची चोटियों में हिमपात और मैदानों में बारिश से उत्तराखंड ठंड से ठिठुरने लगा है. मसूरी के आसपास की पहाड़ियों के साथ ही चकराता, सुरकुंडा भी इस सीजन में पहली बार पहाड़ियों ने बर्फ की चादर ओढ़ ली है. वहीं, बर्फबारी के चलते उत्तरकाशी में गंगोत्री हाइवे और पिथौरागढ़ में थल मुनस्यारी मार्ग अवरुद्ध हो गया.

मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर उत्तराखंड के अधिकांश जिलों में शुक्रवार को एक से 12 वीं तक के स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई थी. वहीं, बुधवार की शाम से शुरू हुआ बर्फबारी और बारिश का सिलसिला भी जारी है. इसी के साथ रूक रूक कर बारिश हो रही है.

अब देहरादून के मसूरी के आसपास की पहाड़ियां सफेद नजर आने लगी है. शुक्रवार सुबह तक सुरकुंडा में करीब छह ईंच, धनोल्टी में एक ईंच तक हिमपात हो चुका था. बता दें कि बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, औली, जोशीमठ, गौरसों, पांडुकेश्वर, पौड़ी जिले के खिर्सू, नैनीडांडा, वीरोंखाल में भी बर्फबारी हो रही है.

साथ ही कुमाऊं के लोहाघाट, पिथौरागढ़, नैनीताल, बागेश्वर सहित ऊंची चोटियों में खूब बर्फबारी होने से सर्दी में इजाफा हो गया. उत्तरकाशी में बर्फबारी के चलते सुक्की से गंगोत्री तक सड़क अवरुद्ध हो गई. वहीं, पिथौरागढ़ में रातापानी से मुनस्यारी तक भारी बर्फबारी होने लगी है.

यह भी पढ़ें : रुड़की नगर निगम चुनाव में बागी बन बैठे नेता

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार मसूरी समेत आसपास की पहाड़ियों पर बर्फबारी का दौर जारी रहेंगा, साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि अधिकतम तापमान 16.2 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान 11.6 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं मसूरी का अधिकतम तापमान 10.4 व न्यूनतम तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.