इन तरीकों से मन को रखें स्वस्थ, जिन्दगी हो जाएगी बेहतर

0
Healthy-life

ज़िन्दगी मं एक स्वस्थ मन का होने बेहद ज़रूरी है मनोविज्ञान की भाषा में एक अस्वस्थ मन एक अस्वस्थ शरीर का द्योतक होता है। मन में इच्छाशक्ति का सृजन केवल मन के स्वस्थ होने पर ही किया जा सकता है। मन से स्वस्थ इंसान ज़िन्दगी में बड़े से बड़े लक्ष्य को आसानी से हासिल कर सकता है। वहीं, शारीरिक तौर पर स्वस्थ होने पर इंसान मन के अस्वस्थ होने पर कुछ नहीं कर सकता है। यानि एक इंसान जो शारीरिक तौर चाहे कितना भी स्वस्थ हो मगर अगर, वह मानसिक तौर पर स्वस्थ नहीं को ज़िन्दगी में कुछ हासिल नहीं कर पाएगा। इन्हीं पहलुओं को ध्यान में रखते में इस लेख में मन को स्वस्थ रखने के तरीकों के बारे में विस्तार से बताया गया है, जिन्हें अपनाकर आप एक बेहतर ज़िन्दगी जी सकते हैं।

1- हमें यह तो पता है कि अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में हंसना चाहिए, लेकिन क्या वास्तव में हम दिन में कितनी बार हंसते हैं ? हंसना और हंसाने की कला सीखनी ज़रूरी है क्योंकि हंसने से हमारे शरीर में इंडोर्फिन व सेरोटोनिन जैसे केमिकल निकलते हैं जो हमारे मन और शरीर दोनों को स्वस्थ रखते हैं।

2- आए दिन हम न जाने कितनों लोगों से रूबरू होते हैं मगर क्या हम उन्हें हमारी ज़िन्दगी में पलभर के आने के लिए धन्यवाद देते हैं? हमें धन्यवाद देना सीखना चाहिए क्योंकि यह ग्रेटिट्यूड थेरेपी यानी आभार चिकित्सा का एक हिस्सा है। जब हम अपने आसपास की चीज़ों एवं लोगों को जिन्होंने हमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मदद की हो को आभार व्यक्त करते है तो हमारे मन को शांति मिलती है।

3- दिन की शुरूआत सुबह उठने के साथ शुरू हो जाती है। ऐसे में संपूर्ण दिन को अच्छा बनाने के लिए सकारात्मकता बनाए रखें क्योंकि सकारात्मकता सकारात्मक सोच को बढ़ावा देती है वहीं, नकारात्मकता नकारात्मक विचारों को बढ़ावा देती है। एक सकारात्मक दृष्टिकोण आपके जीवन में फैले तनाव को कम करता है और इसका नतीजा यह रहता है कि इससे आपका मन स्वस्थ रहता है। कोशिश करें नकारात्मक लोगों से दूर रहें या उन्हें सकारात्मक बनाने में कोशिश करें। इसमें किसी की बुराई न करना भी शामिल हैं।

4- एक मशहूर कहावत है कि खाली दिमाग शैतान का घर। अगर किसी को दिमाग खाली है तो उसे शैतान बनने में ज़्यादा वक़्त नहीं लगता।  इसलिए 24 घंटे अपने आपको व्यस्त रखें। वैसे यह सच है कि दिमाग खाली नहीं होता बल्कि ग़ैर-ज़रूरी चीजों की ओर डायवर्ट हो जाता है।

5- मन को स्वस्थ रखने के लिए एक ज़रूरी क्रिया करनी चाहिए और वह है ‘अच्छी किताबें व लेख को पढ़ना’। वैसे यह कहा भी गया है कि  जैसा पढ़ोगे वैसा बनोगे। इसलिए अपना ध्यान हमेशा अच्छी क़िताबों में पढ़ने में लगाएं क्योंकि अच्छा पढ़ने से मन में अच्छे विचार जन्म लेते हैं और बुरे विचार आपसे दूर रहते हैं।

6- मन को स्वस्थ का एक और कारगर तरीका यह है कि जो कुछ आपके पास है उसके लिए भगवान/ख़ुदा/अल्लाह या जिस किसी को भी आप मानते हों, उसका शुक्रिया अदा करना क्योंकि शुक्रिया अदा करने से मन को संतोष मिलता है और मन शांत हो जाता है।

ये भी पढ़ें : जानिए, किन 10 बातों को सुनकर लड़कियां होती हैं खुश ?