ईरान में विमान क्रैश होने के बाद अब न्यूक्लियर पावर प्लांट के पास भूकंप के झटके

हाल फिलहाल में ही हुई कासिम सुलेमानी की मौत को लेकर ईरान और अमेरिका के बीच युध्द की स्थिति बनी हुई है. इतना ही नहीं अमेरिका के राष्ट्रपति ने इस स्थिति को देखते हुए ट्विट भी किया है. इन दिनों में दोनों ही देशों में तनातनी और युध्द के बढ़ते आसार के बीच राजधानी तेहरान में एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास उड़ान भरने के बाद एक बोइंग विमान क्रैश हो गया है. जिसमें लगभग 180 यात्री सवार थे. अभी तक इसकी पूरी जानकारी मिली भी नहीं थी कि अब बुशहर के न्यूक्लियर पावर प्लांट के पास भूकंप के झटके महसूस किए गए है.

ईरान और अमेरिका के बीच बढ़े तनातनी और युद्ध के बढ़ते आसार बने हुए है. ईरान की राजधानी तेहरान में स्थित इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एक बोइंग 737 विमान क्रैश हो गया है. इस के साथ बता दें कि ये विमान यूक्रेन का था. जिसमें लगभग 180 यात्री सवार थे. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि फ्लाइट नंबर पीएस 752 विमान जिस समय हादसे का शिकार हुआ था उस वक्त वह फ्लाइट लगभग 7,900 फीट की ऊंचाई पर था.

इस दर्दनाक विमान दूर्घटना के बाद थोड़ी ही देर बाद ईरान के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र के बुशहर में स्थित न्यूक्लियर पावर प्लांट के पास भूकंप के झटके महसूस किए गए है. हालांकि भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए. भूकंप की तीव्रता 4.9 मापी गई. बुशहर में स्थित न्यूक्लियर पावर प्लांट कुवैत के नजदीक है और वहां पर पिछले महीने 26 दिसंबर को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे.

बोइंग विमान क्रैश होने की जानकारी ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी द्वारा दी गई है. जिसमें बताया गया है कि एक तकनीकी समस्या के चलते टेक ऑफ करने के तुरंत बाद तेहरान में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. यह विमान यूक्रेन जा रहा था जिसमें 180 यात्रियों के साथ चालक दल के सदस्य भी सवार थे. वहीं दूसरी ओर विमान हादसा से पहले ईरान का अमेरिका के साथ संबंध बेहद तनावपूर्ण हो गए थे. पिछले लंबे समय से दोनों के बीच तनातनी जारी है और पिछले कुछ दिनों से दोनों देशों के बीच जंग की आशंका बनी हुई है.

यह भी पढ़ें : जॉन सीना ने जिस गर्लफ्रेंड के लिए छोड़ा था पत्नी को, उसने किसी और से कर ली सगाई

जिसका साफ अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इराक में स्थित अमेरिकी सेना के ठिकानों पर हमला और सैन्य ठिकानों पर ईरान ने बैलिस्टिक मिसाइल से ममला बोला है. खबरों के मुताबिक ये सामने आया है कि दर्जनों से ज्यादा मिसाइलें दागी गई है. ये हमले अल असद और इरबिल के दो सैन्य ठिकानों पर हुए हैं.