कंप्यूटर बाबा का दावा- बीजेपी के 4 विधायक इस दिन कांग्रेस में हो जाएंगे शामिल

0

पिछले दिनों कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार गिरने और कल मध्य प्रदेश में सियासी उठापटक के बाद अब कंप्यूटर बाबा ने भाजपा के चार विधायकों को अपने संपर्क में होने का दावा किया है और कहा है कि जब कांग्रेस चाहेगी ये विधायक पार्टी में शामिल हो जाएंगे।

दरअसल, विधानसभा में भाजपा के दो विधायकों का राज्य की कांग्रेस सरकार के बिल पर वोट करके पार्टी लाइन से बाहर जाने के बाद अब उसके चार और विधायक राजनीतिक मुद्दों पर राय रखने वाल कंप्यूटर बाबा के नाम से प्रसिद्ध नामदेव के संपर्क में हैं। उन्होंने बयान देते हुए कहा, भारतीय जनता पार्टी के चार विधायक मेरे समर्थन में है और सही वक्त आने पर वह सामने भी आ जाएंगे। जब मुख्यमंत्री कमलनाथ कहेंगे तो वे कांग्रेस पार्टी में शामिल हो जाएंगे।

कंप्यूटर बाबा के इस बयान पर सियासी वार-पलटवार होना तय है। हालांकि भाजपा की तरफ इस बयान पर कोई प्रतिक्रिया या जवाब सामने नहीं आया है। मगर चार विधायकों के कंप्यूटर बाबा के संपर्क में होने के दावे ने भाजपा की बेचैनी जरूर बढ़ा दी है। इससे पहले दो विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल बगावती रूख दिखा चुके हैं।

दरअसल, बुधवार को विधानसभा में बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कौल ने आपराधिक कानून ( मध्य प्रदेश संशोधन) बिल, 2019 पर चर्चा के दौरान पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर कांग्रेस के समर्थन में वोट कर दिया था। इन विधायकों के रूख से जाहिर है कि वे पार्टी से नाराज चल रहे हैं। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम के बाद भाजपा ने कहा, किसी बिल पर सरकार के पक्ष में वोटिंग करने से कोई विधायक दूसरे दल का नहीं हो जाता।

कौन हैं कंप्यूटर बाबा ?

अक्सर सुर्खियों में रहने वाले कंप्यूटर बाबा का असली नाम नामदेव दास त्यागी है। राजनीति को लेकर अक्सर अपनी राय रखने वाले कंप्यूटर बाबा महामंडलेश्वर हैं और वह फोन और गैजेट्स के काफी शौकीन हैं। वह अक्सर पूर्व की शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले नजर आते हैं।

ये भी पढ़ें : राज्य में मिलावटखोरों की खैर नहीं, सीएम कमलनाथ ने कही ये बात