राज्य में मिलावटखोरों की खैर नहीं, सीएम कमलनाथ ने कही ये बात

0
kamalnath

खाद्य पदार्थों में बढ़ती मिलावट पर लगाम कसने के लिए प्रदेश की कांग्रेस सरकार सख्त हो गई है। इंदौर में 510 किलो पनीर जब्त होने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा, मिलावटखोरों को बख्शेंगे नहीं।

सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा, मिलावटी दूध या उससे बने उत्पाद बेचने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। मैं खुद इसकी मॉनीटरिंग कर रहा हूं। ऐसे लोग समाज और मानवता के दुश्मन हैं। लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ करने वालों को कड़ी सजा मिलेगी। ऐसे तत्वों से अगर किसी की मिलीभगत सामने आती है तो वे भी नहीं बचेंगे।

वहीं, खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों तत्वों के खिलाफ कार्रवाई करने के मद्देनजर एसटीएफ ने सख्ती बढ़ा दी है। सिंथेटिक दूध बनाने वालों का रैकेट पकड़ने के लिए एसटीएफ ने प्रदेश के सभी 52 जिलों में इंफॉरमेशन नेटवर्क बनाया है। इंफॉरमेशन नेटवर्क की यह टीम एसटीएफ को मिलावटखोरों की सूचना देगी। इसके तुरंत बाद खाद्य विभाग की टीम के साथ छापेमारी की जाएगी और मिलावटखोरों पर कार्रवाई की जाएगी।

मिलावटखोरी पर राज्य सरकार के खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह का कहना है कि बच्चों को जहर देने वाले ऐसे मिलावटखोरों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। इधर, मंगलवार को इंदौर में मिलावटी दूध को लेकर जिला प्रशासन, खाद्य विभाग और नगर निगम की टीम ने जांच की। वहां पर मिलावट के संदेह में 510 किलो पनीर जब्त किया गया।

ये भी पढ़ें : MP में मिड डे मील के लिए शौचालय का इस्तेमाल रसोईं के रूप में, मंत्री ने बताया यह गणित