रिपोर्ट में खुलासा, 2019 के चुनाव में खर्च हुए 60 हजार करोड़ रूपये

0
expense of lok sabha election 2019

17वीं लोकसभा गठन के लिए हुए आम चुनाव में भारत ने चुनावी खर्चे के मामले में एक नया रिकॉर्ड क़ायम किया है। 2019 का चुनाव दुनिया का सबसे महंगा चुनाव रहा। सात चरणों में हुए लोकतंत्र के सबसे बड़े महापर्व में एक मतदाता पर 700 रूपये का खर्च आया है। ये ख़ुलासा ‘रिचर्स फॉर मीडिया स्टडीज़’ (CMS) की एक रिपोर्ट में किया गया है।

सीएमएस द्वारा जारी रिपोर्ट में दर्शाया गया है कि इस बार के चुनाव में 2014 के मुक़ाबले दोगुना खर्च आया है। इस बार के लोकसभा चुनाव में 60 हज़ार करोड़ रूपये का ख़र्च आया है। वहीं, 2014 में हुए चुनाव में 30 करोड़ रुपूये ख़र्च हुए थे।

सीएमएस द्वारा जारी की गई रिपोर्ट पर, सीएमएस के अध्यक्ष एन. भास्कर राव का कहना है कि ”अगर यही हाल रहा, तो 2024 के आम चुनाव में चुनावी ख़र्च का आंकड़ा एक ट्रिलियन के पार चला जाएगा। इसके अलावा, उनका ये भी कहना है कि सभी तरह का भ्रष्टाचार चुनावी खर्च के दौरान किया जाता है। अगर हम इस समस्या को नहीं समझ सके, तब हम देश में भ्रष्टाचार को नहीं पकड़ पाएंगे”।